Login to your account

Username *
Password *
Remember Me
News Desk

News Desk

सफेद दाग को समाज में छुआछूत से जोड़ कर देखा जाता है। इसी को खत्म करने की कोशिश में जुड़ी हैं विटिलिगो काउंसलर दीपिका दिवाकर। विश्व विटिलिगो दिवस के मौके पर दीपिका दिवाकर ने बताया कि सफेद दाग बीमारी को हमारे समाज में छुआछूत से जोड़ कर देखा जाता है। उन्होंने कहा कि अज्ञानता की वजह से कुछ लोग इसे कुष्ठ रोग भी समझ लेते हैं।

कई बार सफेद दाग की वजह से मरीज और उसके परिवार को भी सामाजिक भ्रांतियों में पड़ कर नौकरी, शादी-विवाद आदि में परेशानी  का सामना करना पड़ता है और भी कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ती है। विटिलिगो काउंसलर ने बताया कि जब इंसान के शरीर में रंग बनाने वाली कोशिकाएं विपरीत अवस्था में कार्य करने लगती हैं, तो त्वचा पर सफेद दाग दिखाई देने लगते हैं।

वर्षों पहले इसे श्वेत कुष्ठ माना जाता था। लोग मरीज से दूरी बनाना शुरू कर देते थे, जबकि यह गलत धारणा है। विटिलिगो काउंसलर दीपिका ने आगे कहा कि सफेद दाग छुआछूत की बीमारी नहीं है और न ही यह किसी तरह का कुष्ठ है। अगर मरीज जल्दी डॉक्टर के पास पहुंचता है, तो उसका पूरी तरह से उपचार हो सकता है।

सफेद दाग के प्रति इसी भ्रांति को दूर करने के लिए प्रति वर्ष 25 जून को विश्व विटिलिगो दिवस मनाया जाता है।

उन्होंने बताया कि पूरी दुनिया में दो प्रतिशत और भारत में तीन से पांच प्रतिशत लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। 10 वर्ष के बच्चों से लेकर 30 साल तक के लोगों में यह रोग ज्यादा पाया जाता है। यह शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है। विटिलिगो काउंसलर ने कहा कि इस रोग को छिपायें नहीं, बल्कि जल्द से जल्द चिकित्सक को दिखायें। दवाओं और सर्जरी से इसे पूरी तरह ठीक किया जा सकता है। सफेद दाग त्वचा ऑटो इम्यून बीमारी है, जिसका संबंध मेलेनिन नामक पिगमेंट से है, जो हमारी त्वचा के रंग के लिए जिम्मेदार है।

मेलेनिन मेलेनोसाइट नामक कोशिका से बनता है। ऑटो इम्यून बीमारी में शरीर की प्रतिरोधक प्रणाली इस कोशिका को नष्ट करने लगती है और मेलेनिन का बनना धीरे-धीरे बंद होने लगता है। शरीर के जिस स्थान पर यह असर करता है, वहां की चमड़ी सफेद होने लगती है, जिसे सफेद दाग, विटिलिगो अथवा ल्यूकोडर्मा के नाम से जाना जाता हैं।

यह बीमारी क्यों होती है ?

इसका आज तक ठीक-ठीक पता नहीं लगाया जा सका है। जब इंसान के शरीर में रंग बनाने वाली कोशिकाएं विपरीत अवस्था में कार्य करने लगती हैं, तो त्वचा पर सफेद दाग दिखाई देने लगते हैं।

विटिलिगो काउंसलर दीपिका दिवाकर कहा कि इलाज संभव है पर उससे भी ज्यादा जरूरी है खुद को इसी रूप में अपनाना और हताश ना होना और खुश रहना और अपने सभी कार्य को मेहनत से करना ।

दीपिका दिवाकर खुद एक विटिलीगो फाइटर हैं। उन्होंने अपने बारे में बताया कि वह 7 साल की छोटी उम्र से अब तक बहुत उतार चढाव देखने के बाद आज आप उन लोगों के लिए काम कर रही हैं जो इस बीमारी से हताश हो चुके हैं

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को जल्द ही भारत वापस लाया जा सकता है। एंटिगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने इस संदर्भ में बयान दिया है कि वह जल्द ही मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द करने वाले हैं। ब्राउन के मुताबिक, भारत की ओर से लगातार इसको लेकर दबाव बनाया जा रहा था। 

आपको बता दें कि चोकसी एंटिगुआ में रह रहा था। एंटिगुआ के प्रधानमंत्री ने कहा है कि, मेहुल चोकसी को पहले यहां की नागरिकता मिली हुई थी, लेकिन अब इसे रद्द कर, उसे भारत प्रत्यर्पित किया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम किसी भी ऐसे व्यक्ति को अपने देश में नहीं रखेंगे, जिसपर किसी तरह के आरोप लगे हों। 

अब एंटिगुआ में मेहुल चोकसी पर किसी तरह का कानूनी रास्ता नहीं बचा है, जिससे वह बच सके इसलिए उसका भारत लौटना लगभग तय है। 

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भारत दौरे पर आ रहे हैं। मंगलवार रात वह दिल्ली पहुंचेंगे। वह बुधवार को प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर से मुलाकात करेंगे। जयशंकर पोम्पियो के लिए लंच भी होस्ट करेंगे। ईरान तेल निर्यात, पाकिस्तान में आतंकवाद और रूस के साथ एस-400 समझौते समेत कई मुद्दों पर इस दौरान बातचीत की जाएगी।  

पाकिस्तान आतंकवाद को खत्म करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है। वह बार-बार भारत को निशाना बना रहा है। जिससे भारत की चिंता बढ़ती जा रही है। साथ ही पाकिस्तान मुंबई, पठानकोट, उरी और पुलवामा आतंकी हमलों की जांच में ना तो सहयोग कर रहा है और ना ही जांच को आगे बढ़ा रहा है। इसलिए इस मुद्दे पर भी भारत पोम्पियो से बात कर सकता है। फरवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कहा था कि वह पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत द्वारा की गई जा रही कार्रवाई को समझते हैं। 

अमेरिका और तालीबान की फिलहाल बातचीत चल रही है। ताकि लंबे समय से अफगानिस्तान में चल रही अमेरिकी लड़ाई को खत्म किया जा सके। ऐसे में अफगानिस्तान को युद्धक्षेत्र बदलने के पीछे पाकिस्तान के प्रभाव पर भी बातचीत हो सकती है।


भारत अमेरिका से सेना के लिए कई उपकरण खरीद रहा है, जिसमें 24 एमएच60 सीहॉक हेलीकॉप्टर, लंबी दूरी वाला 10 पी8एलविमान, 6 अधिक अपाचे-64 हेलीकॉप्टर आदि शामिल हैं। रक्षा खरीद को आगे और बढ़ाने पर भी चर्चा हो सकती है।

हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ती सैन्य ताकत भारत और अमेरिका दोनों के लिए चिंता का विषय है। ऐसे में पोम्पियो भारत-अमेरिका की रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने पर बातचीत कर सकते हैं।

कुछ मुद्दे ऐसे भी हैं जो भारत और अमेरिका के बीच विवाद का विषय बने हुए हैं। इन मुद्दों का हल निकालने के लिए भी इस दौरान विचार विमर्श हो सकता है। 

पोम्पियो से भारत-अमेरिकी व्यापार में चल रहे तनाव को खत्म करने की लिए बातचीत हो सकती है। हाल ही में अमेरिका ने भारत को विषेश तरजीह वाले देशों (जीएसपी सूची) की सूची से बाहर किया है। जिसके बाद भारत ने भी जवाब देते हुए अमेरिका से आयातित 28 उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ा दिया था।

अमेरिका और ईरान के बीच चल रहे टकराव के कारण ईरान का तेल निर्यात प्रभावित हो रहा है। भारत भी ईरान से तेल लेता है। लेकिन अमेरिका ने भारत सहित कई देशों को चेतावनी दी है कि अगर वह ईरान से तेल खरीदते हैं तो उनके खिलाफ भी कड़े प्रतिबंध लगा दिए जाएंगे। हालांकि अमेरिका भारत को वैकल्पिक स्त्रोत को लेकर भी विकल्प दे सकता है।  

-एच-1बी वीजा: अमेरिका द्वारा एच-1 बी वर्क वीजा पर प्रतिबंध की संभावना से भारत भी चिंतित है। इसी हफ्ते अमेरिका ने कहा है कि वह एच-1बी कार्यक्रम की समीक्षा करेगा लेकिन इससे भारत को नुकसान नहीं होगा। इसपर लिए गए किसी भी फैसले का नकारात्मक प्रभाव भारतीयों पर ना पड़े, इसके लिए भी बातचीत हो सकती है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूसरी बार सरकार बनने के बाद ये अमेरिका के ट्रंप प्रशासन की ओर से पहला दौरा है। पोम्पियो भारत के अलावा श्रीलंका की यात्रा पर भी जाएंगे। इसके बाद वह दक्षिण कोरिया की यात्रा पर जाएंगे। फिर वह ओसाका में जी 20 सम्मेलन में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ शिरकत करेंगे।

 

आपातकाल को देश के लोकतंत्र में काले अध्याय के तौर पर याद किया जाता है। आज आपातकाल को 44 साल पूरे हो गए। 25 जून 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल की घोषणा की थी। भाजपा के तमाम वरिष्ठ नेता आपाताकाल को लेकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं। वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर ही लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगाया है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपातकाल की एक वीडियो जारी करके इसे याद किया तो वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा कि राजनीतिक हितों के लिए देश के लोकतंत्र की हत्या की गई थी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा कि आपातकाल भारत के इतिहास के काला अध्याय में से एक है।

प्रधानमंत्री मोदी ने एक आपातकाल के दौरान की एक वीडियो ट्वीट करके इसे याद किया। वीडियो में संसद के अंदर प्रधानमंत्री के भाषण का एक हिस्सा भी दिखाया गया है। उन्होंने लिखा, 'भारत उन सभी महानुभावों को सलाम करता है जिन्होंने आपातकाल का जमकर विरोध किया। भारत का लोकतांत्रिक स्वभाव एक सत्तावादी मानसिकता पर सफलतापूर्वक हावी रहा।'

गृह मंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा, '1975 में आज ही के दिन मात्र अपने राजनीतिक हितों के लिए देश के लोकतंत्र की हत्या की गई। देशवासियों से उनके मूलभूत अधिकार छीन लिए गए, अखबारों पर ताले लगा दिए गए। लाखों राष्ट्रभक्तों ने लोकतंत्र को पुनर्स्थापित करने के लिए अनेकों यातनाएं सहीं। मैं उन सभी सेनानियों को नमन करता हूं।'

रक्षा मंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, '25 जून, 1975 को आपातकाल की घोषणा और इसके बाद की घटनाएं, भारत के इतिहास के सबसे काले अध्यायों में से एक के रूप में चिह्नित हैं। इस दिन हम भारत के लोगों को हमेशा अपने संस्थानों और संविधान की अखंडता को बनाए रखने के महत्व को याद रखना चाहिए।'

मोदी सरकार में मंत्री किरण रिजीजू ने कहा, 'आज आधी रात को मैं अपना समय स्वतंत्रता के लिए समर्पित करूंगा क्योंकि 25 जून 1975 आधी रात को भारत में आपातकाल लगाया गया था तथा लोकतंत्र की हत्या उस क्षण हुई थी। 25 जून को भारत का काला दिन के तौर पर याद किया जाता है। इस दिन लोकतंत्र का गला घोंट दिया गया। इंदिया गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने संविधान को ताक पर रखकर राजनीतिक विरोधियों को जेस में डाल दिया गया। प्रेस को दबाया गया और जजों पर जुल्म किए गए।'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, 'आज 1975 में घोषित हुए आपातकाल की बरसी है। पिछले पांच सालों से देश 'सुपर इमरजेंसी' के दौर से गुजर रहा है। हमें अतीत से सबक लेना चाहिए और देश में लोकतांत्रिक संस्थाओं की सुरक्षा के लिए लड़ाई लड़नी चाहिए।'

केंद्रीय मंत्री और ओडिशा से भाजपा सांसद प्रताप चंद सारंगी ने सोमवार को लोकसभा में कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। सारंगी ने लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव देते हुए कहा, 'जो लोग भारत के टुकड़े-टुकड़े करने तक जंग रहेगी, पाकिस्तान जिंदाबाद और अफजल गुरू जिंदाबाद के नारे लगाते हैं क्या उन्हें देश में जीने का अधिकार है।' 

प्रताप चंद सारंगी ने कहा कि कांग्रेस को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले पांच साल के कार्यकाल में किये गए कामकाज की सफलता को स्वीकार कर उनका अभिनंदन करना चाहिए और खुद को जनता द्वारा नकार दिये जाने पर आत्मनिरीक्षण करना चाहिए।

केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री प्रताप चंद सारंगी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव रखते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस नीत यूपीए के समय नीतिगत पंगुता थी और घोटाले पर घोटाले हो रहे थे। तत्कालीन प्रधानमंत्री मूकदर्शक बने रहते थे।

उन्होंने कांग्रेस के प्रथम परिवार (नेहरू-गांधी परिवार) की भी आलोचना की जिस पर विपक्षी पार्टी के सदस्यों ने कड़ा एतराज जताया। सदन में मौजूद यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी भी सदस्यों को विरोध करने के लिए संकेत करते हुए देखी गयीं।

कांग्रेस के सदस्यों ने ‘व्यवस्था का प्रश्न’ उठाया लेकिन लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर ‘व्यवस्था का प्रश्न’ नहीं उठाया जाता। सारंगी ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में उसकी छवि गरीब, किसान, महिला विरोधी बनाने की कोशिश की गई। 

सरकार को सांप्रदायिक दर्शाने और नोटबंदी, जीएसटी और अन्य विषयों को लेकर नकारात्मक छवि पेश करने का प्रयास किया गया लेकिन जनता ने विपक्ष के महागठबंधन के प्रयासों को धता बताते हुए एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भरोसा जताया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में सरकार बनने के बाद ही कहा था कि वह प्रधान सेवक हैं और यह सरकार गरीबों के लिए है। उन्होंने इस बात का पालन करके दिखाया है। सारंगी ने कहा कि 1971 में जब तत्कालीन जनसंघ नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की प्रशंसा में कोई कसर नहीं छोड़ी थी तो आज कांग्रेस एवं विपक्ष को मोदी की प्रशंसा में झिझक क्यों है।

उन्होंने कहा कि यह पहली सरकार है और मोदी ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने हर साल विभिन्न स्थानों पर जाकर अपने कामकाज का हिसाब जनता को दिया। जनता ने काम के आधार पर फिर मोदी को चुना है इसलिए हम जनता के आभारी हैं। सारंगी ने अपने भाषण में कई बार ऋग्वेद, गीता, रामचरित मानस और वेदों के मंत्रों, श्लोकों और सूक्तियों का उल्लेख किया।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज लोकसभा में जम्मू-कश्मीर आरक्षण संशोधन बिल पेश करेंगे। गृहमंत्री के रूप में अमित शाह का यह पहला बिल होगा। इसको पहले अध्यादेश के रूप में लागू किया गया था। जिसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूरी दी थी। 

नियमों के अनुसार, अब यह बिल लोकसभा में चर्चा के लिए प्रस्तुत किया जाएगा। जम्मू और कश्मीर आरक्षण (संशोधन) अध्यादेश 2019 को केंद्रीय कैबिनेट ने 28 फरवरी 2019 को मंजूरी दी थी। 

इसके द्वारा जम्मू और कश्मीर आरक्षण विधेयक 2004 में संशोधन होगा जिससे राज्य में सीमा के भीतर रहने वाले लोगों को भी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के बराबर का आरक्षण मिलेगा। यह विधेयक जम्मू और कश्मीर में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को 10 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने वाले अध्यादेश की जगह लेगा।

इससे जम्मू-कश्मीर के युवाओं को फायदा होगा जो राज्य सरकार की नौकरियों को पाना चाहते हैं। आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण को जनवरी 2019 में 103 वें संविधान संशोधन के माध्यम से लागू किया गया था।


ज्ञात हो कि भाजपा शुरू से ही जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 को रद्द करने की बात कहती आई है। संविधान का यह अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर को संविधान, ध्वज और राष्ट्रीय सुरक्षा को प्रभावित करने वाले मामलों को छोड़कर अपने स्वयं के कानूनों को बनाने का अधिकार देता है। जबकि और अनुच्छेद 35A राज्य के स्थायी निवासियों को परिभाषित करता है और बाहरी लोगों को संपत्ति रखने और सरकारी नौकरियों सहित लाभ प्राप्त करने से बाहर रखता है। 

विधेयक पास न होने या ससंद का सत्र न चलने की स्थिति में केंद्र सरकार के अनुमोदन पर राष्ट्रपति के द्वारा जो आदेश या अधिसूचना जारी की जाती है, उसे ही अध्यादेश कहते हैं। अध्यादेश की अवधि कम से कम छह हफ्ते और अधिकतम छह महीने की होती है।

 संसद या विधानमंडल सदस्य द्वारा किसी विषय पर नया नियम बनाने के लिए पहले उसका प्रारूप या ड्राफ्ट बनाया जाता है। इस प्रारूप में उससे सम्बंधित सभी शर्तों का उल्लेख किया जाता है। जब इस प्रारूप को संसद में पेश किया जाता है, तो इसे विधेयक के नाम से जाना जाता है। 

 

Jk24x7news चैनल लखनऊ के वरिष्ठ संवाददाता संदीप मिश्रा को निष्पक्ष और ईमानदार रिपोर्टिंग के लिए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सम्मानित किया है। मौका था राजधानी लखनऊ में राजभवन के सामने विश्वेश्वरैया सभागार में आयोजित सम्मान समारोह। उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम ने कार्यक्रम में JK NEWS संवाददाता को सम्मान के साथ स्मृति चिन्ह व अंग वस्त्र प्रदान किया।  इस दौरान केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि निष्पक्ष एवं ईमानदार पत्रकारिता के लिये JK NEWS चैनल और उनके संवाददाता दोनों सम्मान के पात्र हैं। हम उन्हें शुभकामनाएं देते हैं और आगे भी ऐसी ही पत्रकारिता की अपेक्षा रखते हैं।

 

राजस्थान के बाड़मेर में रविवार शाम रामकथा के दौरान आंधी-बारिश से पंडाल गिर गया। हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई, जबकि 24 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। हादसा बालोतरा के जसोल कस्बे में हुआ है।

 डीएम हिमांशु गुप्ता ने बताया कि हादसे में 13 लोगों की मौत की सूचना है। पंडाल में अधिकांश बुजुर्ग महिला और पुरुष रामकथा सुन रहे थे। 24 लोग घायल हैं। ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

आपको बता दें कि पंडाल गिरने के बाद बारिश के चलते करंट भी फैल गया था। कई लोग इसकी चपेट में आ गए। हालांकि, अधिकारियों ने कहा कि जांच के बाद ही सही कारण पता चलेगा। 

हादसे के बाद आयोजन स्थल पर अफरा- तफरी मच गई। स्थानीय लोगों ने घायलों को निजी वाहनों से अस्पताल पहुंचाया। प्रशासन ने सभी डॉक्टर्स और मेडिकल स्टॉफ को तत्काल अस्पताल पहुंचने के निर्देश दिए हैं। 

दिल्ली के वसंत विहार इलाके में तीन लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी गई।  जानकारी के मुताबिक अपराधियों ने बुजुर्ग दंपति और एक नौकरानी की गला रेतकर हत्या कर दी। घटना की सूचना मिलते ही दिल्ली पुलिस मौके पर पहुंची और इस पूरी घटना की जाच में जुट गई। दंपति वसंत विहार के वसंत अपार्टमेंट में रहते थे। उनके साथ एक नौकरानी भी रहती थी। इन तीनों को घर के अंदर मृत अवस्था में पाया गया। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। इससे पहले कल दिल्ली के महरौली इलाके में एक शख्स ने अपनी पत्नी समेत 3 बच्चों की हत्या कर दी थी।

पीओके के लोगों पर पाकिस्तान सेना और सरकार की यातनाओं की पोल एक बार फिर से खुली है। इंग्लैंड के  बर्मिंघम में कश्मीरी नेताओं ने पाकिस्तान के खिलाफ आवाज उठाई है। एक कार्यक्रम के दौरान गिलगिट बालटिस्तान के नेताओं ने पाकिस्तान सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद की। इस दौरान पाकिस्तान की सरकार पर पीओके के संसाधनों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया। इसके साथ ही पीओके के सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ बदसलूकी का आरोप भी पाकिस्तान सेना पर लगाया गया।

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की करारी हार के बाद पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के सामने कोई खड़ा नहीं हो पाया। पीएम मोदी की सुनामी में सब कुछ बह गया। मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सलमान खुर्शीद ने कहा कि केंद्र सरकार सबरीमाला मंदिर के फैसले को पलटने को तैयार है, जबकि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं का प्रवेश नहीं रोका जाना चाहिए।

महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने देना चाहिए। मोदी सरकार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानना चाहिए. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे के पेशकश पर उन्होंने कहा कि राहुल गांधी हम सबको छोड़कर नहीं जाएं, वो कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहें।   

बिहार, झारखंड और ओडिशा में मॉनसून की बारिश शुरू हो गई है. भारतीय मौसम विभाग की ओर से जारी ताजा बुलेटिन के मुताबिक, मॉनसून की दस्तक के बाद महाराष्ट्र के करीब सभी हिस्सों और गोवा में झमाझम बारिश हो रही है. अगले 48 से 72 घंटे में इसके पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश पहुंचने की उम्मीद है

 मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर पश्चिम राजस्थान से एक ट्रॉफ लाइन उत्तरी बंगाल की खाड़ी क्षेत्र की ओर तेजी से आगे बढ़ रही है. इससे पूर्वी राजस्थान, दक्षिणी उत्तर-प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल तक निम्न दबाव का क्षेत्र बना है. इससे ट्रॉफ लाइन के आसपास के इलाके में बारिश के आसार बने हैं. आपको बता दें कि देश के 36 सब-डिविजन में से 22 में अब तक सामान्य से 43 फीसदी कम बारिश हुई है.

इसमें कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, गुजरात, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, बिहार, पंजाब और हरियाणा शामिल है

दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने छात्रों को बड़ा तोहफा दिया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ऐलान किया कि जिस परिवार की सलाना इनकम एक लाख रुपये से कम है, उनको फीस की 100 फीसदी स्कॉलरशिप मिलेगी यानी ऐसे लोग जितनी फीस जमा करेंगे, उनको उतने रुपये स्कॉलरशिप के रूप में वापस मिल जाएंगे। वहीं, जिन छात्रों के परिवार की वार्षिक इनकम एक लाख रुपये से ढाई लाख रुपये है, उनको फीस की 50 फीसदी रकम स्कॉलरशिप के रूप में वापस मिलेगी। इसके अतिरिक्त जिस परिवार की सलाना इनकम ढाई लाख रुपये से लेकर 6 लाख रुपये तक है, उनको फीस की 25 फीसदी धनराशि स्कॉलरशिप के तौर पर मिलेगा। दिल्ली सरकार के इस फैसले से गरीब छात्रों और मध्यम वर्ग के छात्रों को काफी राहत मिलेगी।

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आतंकवाद को लेकर सख्त टिप्पणी की है। उन्होंने साफ कर दिया कि घाटी में गोलियों का जवाब गोलियों से ही दिया जाएगा।  सत्यपाल मलिक  ने कहा कि अगर सामने से फायरिंग की जा रही होगी तो आतंकियों को गुलदस्ता नहीं दिया जा सकता है।

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने कहा, "शुक्रवार को नमाज के बाद की जाने वाली पत्थरबाजी तकरीबन रुक चुकी है। हम युवाओं की मुख्यधारा में वापसी चाहते हैं। इसके लिए योजनाओं पर विचार किया जा रहा है। हालांकि ये बात भी सच है कि अगर सामने से फायरिंग की जा रही है तो आप गुलदस्ता नहीं थमा सकते। जनरल साहब गोलियों का जवाब गोलियां से ही देंगे।    

 

राजधानी दिल्ली में एक दिल दहलाने वाला सामने आया है। दिल्ली के महरौली इलाके में एक शख्स ने अपने 3 बच्चों के साथ पत्नी की हत्या कर दी। आरोपी शख्स ने पहले तीन लोगों की पत्थर काटने वाली ग्राइंडर मशीन से हत्या की। वहीं एक 12 साल के मासूम बच्चे की गला घोटकर हत्या की गई। पुलिस आरोपी शख्स को हिरासत में लेकर मामले की जांच कर रही है। आरोपी ने खुद नोट लिखकर मर्डर की बात कबूली है, लेकिन उसने इसके पीछे की वजह फिलहाल नहीं बताई है।

10 ओवर के बाद अफगानिस्तान 1 विकेट के नुकसान पर 37 रन बना चुकी है  , क्रीस पर नायब (10 रन), रहमत (5 रन) नाबाद मौजूद हैं।

Perfect sight for a fast bowler!

DOWNLOAD THE OFFICIAL #CWC19 APP TO WATCH THE WICKET ⬇️
APPLE ? https://t.co/whJQyCahHr
ANDROID ? https://t.co/Lsp1fBwBKR pic.twitter.com/D5ym4jfBFk

50 ओवर के बाद भारत 8 विकेट के नुकसान पर 224, कुलदीप (1 रन), बुमराह (1 रन) नाबाद लौटे पवेलियन।

45 ओवर के बाद भारत 5 विकेट के नुकसान पर 194 , क्रीस पर हार्दिक पांडया (1 रन), केदार जाधव (32 रन) नाबाद मौजूद हैं।

40 ओवर के बाद भारत 4 विकेट के नुकसान पर 175 , क्रीस पर धोनी (22 रन), केदार जाधव (21 रन) नाबाद मौजूद हैं।

16 runs in the last five overs – Afghanistan have kept a lid on the scoring in Southampton! #INDvAFG#TeamIndia#AfghanAtalan pic.twitter.com/Pk2hai1cWi

— Cricket World Cup (@cricketworldcup) June 22, 2019

35 ओवर के बाद भारत 4 विकेट के नुकसान पर 151 , क्रीस पर धोनी (8 रन), केदार जाधव (11 रन) नाबाद मौजूद हैं।

30 ओवर के बाद भारत 3 विकेट के नुकसान पर 113 , क्रीस पर धोनी (3 रन), विराट कोहली (66 रन) नाबाद मौजूद हैं।

? These two are at the crease... #TeamIndia pic.twitter.com/dfwuM3e8mW

— Cricket World Cup (@cricketworldcup) June 22, 2019

25 ओवर के बाद भारत 2 विकेट के नुकसान पर 115 , क्रीस पर विजय शंकर (27 रन), विराट कोहली (53 रन) नाबाद मौजूद हैं।

20 ओवर के बाद भारत 2 विकेट के नुकसान पर 86 , क्रीस पर विजय शंकर (8 रन), विराट कोहली (44 रन) नाबाद मौजूद हैं।

 

15 ओवर के बाद भारत 2 विकेट के नुकसान पर 66 , क्रीस पर विजय शंकर (1 रन), विराट कोहली (32 रन) नाबाद मौजूद हैं।

 

10 ओवर के बाद भारत 1 विकेट के नुकसान पर 41 , क्रीस पर के.ल राहुल (20 रन), विराट कोहली (20 रन) नाबाद मौजूद हैं।

भारत को लगा पहला और बड़ा झटका, सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा 1 रन बनाकर मुजीब के शिकर हुए। रोहित के आउट होने के बाद विराट कोहली मैदान पर आए हैं। 5 ओवर में भारत का स्कोर 8 रन पर 1 विकेट है।  

 

आईसीसी विश्व कप में शनिवार को साउथेम्पटन के मैदान में भारत और अफगानिस्तान के बीच मैच खेला जाएगा। भारत ने यहां टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया है। टीम इंडिया ने अपने प्लेइंग इलेवन में एक बलाव किए हैं। भुवनेश्नर कुमार के चोटिल होने के कारण मोहम्मद शमी को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया है।

भारत ने अभी तक इस टूर्नामेंट में अजेय रहा है, वहीं अफगानिस्तान की टीम पांचों मैच हार चुकी है। अफगानिस्तान के लिए सेमीफाइनल के दरवाजे पहले ही बंद हो चुके हैं, जबकि भारत का सेमीफाइनल में पहुंचना लगभग तय माना जा रहा है। भारत ने अभी तक चार मैच खेले हैं, जिसमें से तीन जीते हैं और एक का नतीजा नहीं निकला है।

अफगानिस्तान (प्लेइंग इलेवन): हज़रतुल्लाह ज़ाज़ी, गुलबदीन नायब (c), रहमत शाह, हशमतुल्ला शाहिदी, असगर अफगान, मोहम्मद नबी, इकराम अली ख़िल (WK), नजीबुल्लाह ज़द्रन, राशिद खान, आफताब आलम, मुजीब उर रहमान

भारत (प्लेइंग इलेवन): लोकेश राहुल, रोहित शर्मा, विराट कोहली (C), विजय शंकर, एमएस धोनी (WK), हार्दिक पांड्या, केदार जाधव, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह

पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू बीते तीन दिनों तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने के लिए दिल्ली में डटे रहे लेकिन बुलावा न आने पर नवजोत सिंह सिद्धू वापस पंजाब लौट गए। इसके बाद सिद्धू समेत अन्य राज्यों के नेताओं से न मिलने पर फिर सवाल खड़े हो रहे हैं। पिछले दिनों राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत भी उनसे बिना मिले ही लौट गए थे।

इससे पहले दस जून को सिद्धू प्रियंका और अहमद पटेल की मौजूदगी में राहुल से मिले थे। सिद्धू ने लिखित तौर पर अपना पक्ष उनके समक्ष रखा था। उस बैठक में पटेल को इस बात का जिम्मा सौंपा गया था कि पंजाब में सिद्धू और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बीच दूरियां कम कराई जाएं। हाल ही में सिद्धू को दिल्ली बुलाकर संगठन के काम से जोडने की खबरें आई थीं।     

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी दो दिवसीय दौरे पर आज अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचेंगी। यहां वह सबसे पहले दिवंगत भाजपा नेता व पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह के घर बरौलिया के अमरबोझा गांव गोवा के मुख्यमंत्री डा. प्रमोद सांवत के साथ पहुंच परिवार के लोगों से भेंट करेंगी।

बरौलिया से निकलने के बाद वह तिलोई के राजा विश्वनाथ शरण सिंह इंटर कालेज में एक साथ विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण कार्यक्रम में सूबे के उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के साथ हिस्सा लेगी और जनसभा को भी संबोधित करेंगी।   

 

जम्मू-कश्मीर के बारामुला जिले के बोनियार के बुझथान इलाके में शनिवार सुबह आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुटभेड़ शुरु हो गया। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सेना और एसओजी बारामुल्ला की 6 जाकली की संयुक्त टीम ने इलाके की घेरा बंदी कर रखी है और तलाशी अभियान चलाया था। सुरक्षाबलों को आते देख आतंकवादियों ने गोली चलानी शुरू कर दी। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में एक विदेशी आतंकवादी को मारा गया है. सुरक्षाबलों ने क्षेत्र की घेराबंदी कर रखी है और दोनों ओर से गोलीबारी चल रही है।

वहीं शुक्रवार को किश्तवाड़ में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. इस इलाके में आतंकवादियों के मौजूद होने की खबर पर आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया गया। ये मुठभेड़ किश्तवाड़ के केशवन जंगल में चली। आतंकवादियों के मौजूदी की खबर पर सेना और किश्तवाड़ पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से तलाशी अभियान चलाया गया था।

लोकसभा में कल एक बार में तीन तलाक को गैर कानूनी ठहराने वाला मुस्लिम महिला विधेयक पेश किया गया।  17वीं लोकसभा के गठन के बाद नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह पहला बिल था। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत के संविधान में कहा गया है कि किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जा सकता, इसलिए यह संविधान के खिलाफ कतई नहीं है बल्कि अधिकारों से जुड़ा हैं।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जनता ने हमें कानून बनाने के लिए चुना है और कानून पर बहस अदालत में होती है और कोई लोकसभा को अदालत न बनाए। इस दौरान ओवैसी ने बिल का विरोध करते हुए कहा कि यह संविधान के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि इस बिल से सिर्फ मुस्लिम पुरुषों को सजा मिलेगी, सरकार को सिर्फ मुस्लिम महिलाओं से हमदर्दी क्यों है।

ओवैसी ने कहा कि केरल की हिन्दू महिलाओं की चिंता सरकार क्यों नहीं कर रही है। ओवैसी ने सवाल करते हुए कहा कि इस बिल के बाद जो पति जेल जाएंगे उनकी पत्नियों का खर्चा क्या सरकार देने के लिए तैयार है। वही दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी की तरफ से सांसद शशि थरूर ने बिल के पेश होने का विरोध किया। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से जो बिल लाया जा रहा है, वह संविधान के खिलाफ है।

भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को लेकर बड़ी खुशखबरी सामने आई है। पीएम नरेंद्र मोदी को ब्रिटिश हेराल्ड के एक पोल में रीडर्स ने 2019 का दुनिया का सबसे ताकतवर शख्स चुना है। इस पोल में पीएम मोदी ने दुनिया के अन्य ताकतवर नेताओं जैसे व्लादिमीर पुतिन, डोनाल्ड ट्रंप और शी जिनपिंग को भी मात दी है।

बतागें नॉमिनेशन लिस्ट में दुनिया की 25 से ज्यादा हस्तियों को शामिल किया गया था और जज करने वाले पैनल एक्सपर्ट्स ने सबसे ताकतवर शख्स के तमगे के लिए 4 उम्मीदवारों का नाम सामने रखा। चयन प्रक्रिया का मूल्यांकन इन सभी आंकड़ों के व्यापक अध्ययन और रिसर्च पर आधारित था।         

जम्मू-कश्मीर: उधमपुर में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस चेकिंग के दौरान 8 किलो हिरोइन पुलिस ने दब्त किया है। जिस पर पाकिस्तान का मुहर लगा मिला। हिरोइन की कीमत कड़ोरों में बताई जा रही है। दरअसल 20/21 जून की रात को जखानी चौक के पास पुलिस गश्त कर रही थी। उधमपुर के एसएसपी राजीव पांडे ने बताया “गश्त  के दौरान दो कश्मीरी जिसकी पहचान   सिराज अहमद और जावेद अहमद के रूप में हुई है Tata Sumo गाड़ी से गुजर रहा था। गश्त कर कर रही पुलिस ने गाड़ी को रोका और चैकिंग करना शुरु कर दिया। चैक कर रहे इंस्पेक्टर विजय चौधरी ने गाड़ी से पाकिस्तान का मोहर लगा हिरोइन बरामद किया। हिरोइन को जब्त कर लिया गया है और दोनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया है। ये दोनों नारकोटिक महसुमार काजिकुंड जिला कुलगाम का रहने वाला है”।

आपको बता दें की कश्मीर में और भी हिरोइन  मिलने की संभावना जताई जा रही है। जिसकी कीमत करोड़ों में हो सकती है।

 

बिहार: मुजफ्फरपुर जिला के सदर अस्पताल में आज दिखी हिन्दू मुस्लिम एकता की शानदार तस्वीर। मुजफ्फरपुर जिला सहित अन्य जिलों में AES से सैकड़ो मासूम बच्चों की हो रही मौत से दुखी हिन्दू समाज के लोगों ने वर्षा को लेकर हवन किया। तो वहीं मुस्लिम समाज के लोगों ने नमाज़ में दुआ मांगी। वो भी एक साथ।

आपको बता दें कि लगातार बढ़ रही गर्मी और उमस से समूचा जिला प्रभावित है।

मोबाइल क्रांति ने हमारे जिंदगी जीने के तरीके को बदल कर रख दिया है। हम कैसे जीते हैं, पढ़ते हैं, शॉपिंग करते हैं, काम करते हैं, संवाद करते हैं। सब कुछ मोबाइल टेक्नोलॉजी ने बदल दिया है। यह तो हम सब जानते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह अब हमारे शरीर की हड्डियों को भी प्रभावित कर रहा है।

बायोमैकेनिक्स में हुई एक नई रिसर्च में पता चला है कि मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल करने वाले युवाओं के सिर के पिछले हिस्से में 'सींग' की तरह के स्पाइक्स निकल रहे हैं। सिर के स्कैन में इस बात की पुष्टि भी हो गई है। सिर के आगे की ओर झुकाव के कारण बोन स्पर्स होता है।

रीढ़ की हड्डी से वजन के शिफ्ट होकर सिर के पीछे की मांसपेशियों तक जाने से कनेक्टिंग टेंडन और लिगामेंट्स में हड्डी का विकास होता है। नतीजतन एक हुक या सींग की तरह की हड्डियां बढ़ रही हैं, जो गर्दन के ठीक ऊपर की तरह खोपड़ी से बाहर निकली हुई है।

मोबाइल पर घंटों बिताने वाले युवा खासकर 18 से 30 साल के आयु वर्ग के लोग इस नई बीमारी के ज्यादा शिकार हो रहे हैं। ये रिसर्च ऑस्ट्रेलिया के सनशाइन कोस्ट यूनिवर्सिटी में किया गया। ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में सनशाइन कोस्ट विश्वविद्यालय के दो शोधकर्ताओं का तर्क है कि युवाओं में हड्डी के विकास के मामले आधुनिक तकनीक के उपयोग के लिए शरीर की मुद्राओं के बदलने की तरफ इशारा करते हैं।

उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन और अन्य हैंडहेल्ड डिवाइस मानव स्वरूप का विरोध कर रहे हैं। यूजर को छोटी स्क्रीन पर क्या हो रहा है, यह देखने के लिए अपने सिर को आगे झुकना पड़ता है। शोधकर्ताओं ने कहा कि उनकी खोज रोजमर्रा की जिंदगी में एडवांस टेक्नोलॉजी की वजह से होने वाले हड्डियों के अनुकूलन का पहला दस्तावेज है।

शोधकर्ताओं का पहला पेपर जर्नल ऑफ एनाटॉमी में साल 2016 में प्रकाशित हुआ था। इसमें 216 लोगों के एक्स-रे को बतौर उदाहरण पेश किया गया था, जिनकी उम्र 18 से 30 साल के बीच थी। उन्होंने बताया कि 41 प्रतिशत युवा वयस्कों के सिर की हड्डी में वृद्धि देखी जा सकती है, जो पहले लगाए गए अनुमान की तुलना में बहुत अधिक है। यह महिलाओं की तुलना में पुरुषों में अधिक है।

 

लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही शुक्रवार से विधिवत रूप से शुरू हो गई। नवनिर्वाचित सांसदों के शपथ और राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद शुक्रवार से दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू हुई।

लोकसभा में तीन तलाक बिल पेश किया गया। बिल पेश करते ही विरोधियों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।

मुख्य बातें

  • लोकसभा में तीन तलाक विधेयक पर बोलते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा- संसद को अदालत न बनाएं। उन्होंने कहा किसंविधान की प्रक्रिया के तहत बिल लाया गया। एआईएमआईएम के मुखिया और हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बिल का विरोध किया है।
  • कानून मंत्री ने विधेयक को लोकसभा में पेश करने की मांग की है। वहीं तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि बिल में कहीं बातें संविधान के खिलाफ हैं। उन्होंने इसका विरोध किया है।
  • लोकसभा में तीसरी बार तीन तलाक विधेयक सदन के पटल पर रखा गया है।जिसपर की हंगामा जारी है। इस विधेयक को कानून एवं विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पेश किया। कांग्रेस ने बिल के ड्राफ्ट का विरोध किया है। इस विधेयक में तीन बदलाव किए गए हैं।
  • राज्यसभा में एआईएडीएमके सांसद विजिला सत्यनाथ ने कहा, 'तमिलनाडु पानी की कमी से जूझने वाला राज्य है। राज्य में एकमात्र प्रमुख नदी प्रणाली कावेरी नदी प्रणाली है। इसका समाधान केवल यह है कि केंद्र को कावेरी जल प्रबंधन का पूरा अधिकार ले लेना चाहिए। तत्काल पानी छोड़ा जाना चाहिए।'
  • लोकसभा और राज्यसभा में दिमागी बुखार का मुद्दा शुक्रवार को गूंजा। राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते हीउपसभापति ने श्रीलंका की चर्च में हुए आतंकी हमले में जान गंवाने वाले लोगों के प्रति श्रद्धांजलि दी। इस पर विपक्ष के सांसदों ने बिहार में चमकी बुखार से मारे गए बच्चों के प्रति भी श्रद्धांजलि देने की मांग की। इसके बाद पूरे सदन में चमकी बिहार से जान गंवाने वाले बच्चों से मौन रखकर सदन के भीतर श्रद्धांजलि दी।
  • वहीं लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने दिमागी बुखार का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि बिहार में भाजपा की सरकार है। इसकेजवाब में बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि कुषोषण से कहीं भी कोई भी मौत दुखद है और एक मां होने के नाते मैं बच्चों की मौत का दर्द समझ सकती हूं।
  • राज्यसभा में सभापति वेंकैया नायडू ने सभी सांसदों का स्वागत किया और सदस्यों से सदन चलाने की अपील की है।
  • राजद सांसद मनोज झा ने राज्यसभा में 24 जून को दिमागी बुखार पर चर्चा के लिए ध्यानाकर्षण प्रस्ताव का नोटिस दिया है।
  • आज अकाली दल के सांसद नरेश गुजराल सदन में गतिरोध रोकने के प्रावधान करने वाले प्राइवेट मेंबर बिल पर चर्चा कर इसे पास कराने की मांग करेंगे। यह बिल चुनाव से पहले ही पेश हो चुका था लेकिन अब तक इस पर गतिरोध के चलते चर्चा नहीं हो पाई है।

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग के अरवनी बिजबिहारा  के रहने वाले मुदस्सिर अहमद और उनकी पत्नी को आतंकियो ने अगवा कर लिया है। अगवा करने की वजह अभी तक साफ नहीं हो पाई है।

आपको बता दें की सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है।

 

मुज़फ़्फ़रपुर के बच्चों की चीखें अब फिल्मी दुनिया तक पहुंच चुकी है। वीरवार को मुज़फ़्फ़रपुर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भोजपुरी फिल्म अभिनेता खेसारी लाल यादव पहुंचे।

 खेसारी लाल के पहुंचते ही जमकर हंगामा हुआ और नारेबाजी भी की गई। इस नारे बाजी का असर ये हुआ की दिमागी बुखार से पीड़ित बच्चों को ला रही एम्बुलेंस भी भीड़ में फंसी रही।

 इसी बीच खेसारी लाल और मेडिकल कर्मियों के साथ धक्का मुक्की भी हुई। जिसकी जानकारी मिलने पर SSP मनोज कुमार वहां पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया।

 बता दें कि मीडिया कर्मियों की इमरजेंसी सहित कई वार्डो में आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया गया है। जिसको लेकर ये पूरा हंगामा हुआ है। मुज़फ़्फ़रपुर में बीते दिनों सीएम नीतीश कुमार के दौरे के बाद से सीएम वापस जाओ के नारे लगे थे। जिसके बाद मीडिया कर्मियों के लिए पाबंदी लगाई गई है।

बर्खास्त गुजरात-कैडर के IPS अधिकारी संजीव भट्ट को 30 साल पुराने हिरासत में मौत के मामले में जामनगर की अदालत ने उम्र कैद की सजा सुनाई है। एक अन्य पुलिस अधिकारी प्रवीण सिंह झाला को भी उम्र कैद की सजा सुनाई गई है।

उच्चतम न्यायालय ने पिछले सप्ताह भट्ट की याचिका पर 11 अतिरिक्त गवाहों की जांच की मांग पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया था। संजीव भट्ट इन गवाहों के बयानों को फिर से दर्ज कराना चाहते थे।



घटना के समय संजीव भट्ट जामनगर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के रूप में तैनात थे। अभियोजन पक्ष के अनुसार, जामनगर में हुए दंगों में भट्ट ने लगभग 100 लोगों को हिरासत में लिया था। इनमें से एक की मौत अस्पताल में उस समय हो गई जब उसे कैद से छोड़ा गया था।

इस आरोप में उन्हें साल 2011 में निलंबित कर दिया गया था। जिसके बाद वह बिना बताए अपनी ड्यूटी से अनुपस्थित रहे थे। इस दौरान उन्होंने सरकारी गाड़ी का दुरुपयोग किया था। अगस्त 2015 में उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया ।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को संसद के दोनों सदनों को संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन में मोदी सरकार 2.0 के एजेंडे को देश के सामने रखा और सरकार किस तरह न्यू इंडिया की नींव रख रही है इसे भी बताया. इस दौरान सदन में लोकसभा, राज्यसभा के सभी सांसद मौजूद रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने राष्ट्रपति का स्वागत किया। राष्ट्रपति ने अपने भाषण में विकास, नीति समेत कई बड़े मुद्दों का जिक्र किया। इसी के साथ उन्होंने नई सरकार को भी बधाई दी।

 

अपने अभिभाषण में राष्ट्रपति ने इन मुद्दों का जिक्र किया..

  1. 61 करोड़ से अधिक मतदाताओं ने लोकतंत्र का सम्मान किया है, गर्मी में भी वोट दिया और महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। लोकसभा के नए स्पीकर को उनके चयन, चुनाव आयोग को सफलतापूर्वक चुनाव कराने के लिए बधाई।

 

  1. इस लोकसभा में लगभग आधे सांसद पहली बार निर्वाचित हुए हैं। लोकसभा के इतिहास में सबसे बड़ी संख्या में 78 महिला सांसदों का चुना जाना नए भारत की तस्वीर प्रस्तुत करता है। सदन में इस बार हर प्रोफेशन के लोग आए हैं।

 

  1. मेरी सरकार बिना किसी भेदभाव के विकास कार्यों को आगे बढ़ा रही है। देश के लोगों ने लंबे समय तक मूलभूत सुविधाओं के लिए इंतजार किया, लेकिन अब स्थिति बदली है। 2014 से पहले देश में निराशा का माहौल था, लेकिन अब हमारी सरकार ने राष्ट्रनिर्माण के लिए कदम बढ़ाएं हैं। मेरी सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की नीति के साथ आगे बढ़ रही है।

 

  1. मेरी सरकार 30 मई को शपथ लेने के तुरंत बाद नए भारत के निर्माण में जुट गई है। ऐसे भारत में युवाओं के सपने पूरे होंगे, उद्योग को ऊंचाईयां मिलेंगी, 21वीं सदी के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा। 21 दिन के कार्यकाल में ही मेरी सरकार ने किसान, जवान के लिए बड़े फैसले किए हैं।

 

  1. किसान हमारे देश का अन्नदाता है, पीएम किसान योजना के तहत अब देश के हर किसान को मदद की जाएगी। साथ ही किसानों के लिए पेंशन योजना भी लागू की जा रही है। पहली बार किसी सरकार ने छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन की योजना शुरू की गई है। इससे 3 करोड़ दुकानदारों को लाभ मिलेगा।

 

  1. देश की सुरक्षा में जुटे जवानों के लिए भी मेरी सरकार लगातार फैसले ले रही है। मेरी सरकार ने जवानों के बच्चों को मिलने वाली स्कॉलरशिप में बढ़ोतरी की गई है। पहली बार राज्य पुलिस के जवानों के बेटे-बेटियों को भी शामिल किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री एफएम कुरैशी के बधाई संदेश का जवाब दिया है। पीएम मोदी ने इमरान को लिखी अपनी चिट्ठी में आतंक के माहौल का जिक्र किया। उन्होंने लिखा, 'दोनों के बीच एक अनुकूल वातारण बनाने पर पुनर्विचार करना चाहिए, जो आतंक का रास्ता छोड़ने के बाद ही संभव है।'

हालांकि इमरान खान को भेजे गए पत्र में आतंक मुक्त माहौल का जिक्र है, लेकिन दोनों मुल्कों के बीच बातचीत कब शुरू होगी, इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। पत्र में कहा गया कि भारत अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ बेहतर संबंध चाहता है। क्षेत्र में विकास के लिए शांति और स्थिरता जरूरी है। भारत के लिए प्राथमिकता हमेशा जनता का विकास रहा है। पाकिस्तान लगातार भारत से बातचीत की पेशकश कर रहा है, लेकिन भारत का स्टैंड साफ है। भारत का कहना है कि जब तक पाकिस्तान की ओर से आतंकवाद पर कार्रवाई नहीं की जाती, तब तक बातचीत नहीं हो सकती। 

पिछले दिनों किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में 13-14 जून को आयोजित शंघाई कॉरपोरेशन ऑर्गनाइजेशन समिट में पीएम मोदी और इमरान खान की मुलाकात हुई थी। दोनों नेताओं ने SCO समिट से इतर एक-दूसरे का अभिवादन किया। यह अभिवादन सामान्य प्रकृति का था और यह उस वक्त हुआ, जब दोनों लीडर्स लाउंज में थे। फरवरी में पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के संबंधों में कड़वाहट पैदा हो गई थी। इस घटना के बाद दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच यह पहला अभिवादन था।

 

बिहार में चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या 140 पहुंच गई है। पूरे मामले में सरकार खामोश है। सिर्फ मुजफ्फरपुर में ही 117 बच्चों की मौत हो गई। 12 मौतें मोतिहारी और 6 मौतें बेगूसराय में हुई हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली में व्यस्त हैं, तो डिप्टी सीएम सुशील मोदी पटना में। हर कोई सवाल पूछ रहा है कि बच्चों की सांसें छिनने का सिलसिला कब खत्म होगा? फिलहाल इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

इस बीच बुधवार को मुजफ्फरपुर के अस्पताल में चमकी बुखार के 16 नए मामले आए। मोतिहारी के सदर अस्पताल में बुधवार को 19 बच्चे भर्ती हुए। बेगूसराय में भी 3 नए केस सामने आए। मासूमों की मौत का केंद्र बन चुके मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज में हालात बदलने की कोशिश की जा रही है।

राहत कि बात ये है कि अस्पताल में कूलर लग गए हैं. एसी लग गए हैं, लेकिन बिजली की कमी फिर मुंह चिढ़ा रही है। मुजफ्फरपुर अस्पताल में बिजली का नया ट्रांसफॉर्मर जोड़ दिया गया है। केंद्र से 15 लोगों की टीम आ चुकी हैं, जिनकी मदद ली जा रही है. मुजफ्फरपुर अस्पताल के आईसीयू में 17 बेड और जोड़े गए हैं।

कैदी वार्ड को शिशु वार्ड में बदल दिया गया है। मुजफ्फरपुर प्रशासन ने लोगों को जागरुक करने के लिए 32 लोगों की टीम बनाई है। जिन जगहों से ज्यादा मरीज आ रहे हैं, वहां 10 अतिरिक्त ऐमबुलेंस को लगाया गया है। घर-घर लोगों को ओआरएस बांटने की तैयारी है।

 

जम्मू-कश्मीर में लगातार कार्रवाई से बौखलाए आतंकियों ने मंगलवार की शाम दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में पुलवामा पुलिस थाने पर ग्रेनेड हमला किया। इसमें आठ नागरिक घायल हो गए, जिनमें से चार की हालत गंभीर है। घटना के बाद पूरे इलाके को घेरकर सर्च आपरेशन चलाया गया। 

मंगलवार की शाम को आतंकियों ने थाने को निशाना बनाकर ग्रेनेड दागा। ग्रेनेड सड़क पर गिरकर फट गया। इससे वहां से गुजर रहे आठ नागरिक घायल हो गए। धमाके की आवाज सुनकर इलाके में भगदड़ मच गई। तत्काल घायलों को पास के अस्पताल ले जाया गया। यहां चार की हालत गंभीर होने पर उन्हें श्रीनगर रेफर कर दिया गया। 

बीच दक्षिणी कश्मीर में सुरक्षा बलों की ओर से लगातार आपरेशन चलाया जा रहा है जिसमें कई आतंकी मारे जा चुके हैं। इससे आतंकी संगठनों में बौखलाहट मच गई है।

आपको बता दें कि इसी के चलते सोमवार को भी आतंकियों ने पुलवामा में सेना के पेट्रोलिंग वाहन को IID विस्फोट से उड़ाने की कोशिश की थी। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर चौंकाने वाला फैसला लिया और एक ऐसे सांसद को लोकसभा स्पीकर के लिए चुना जिसका नाम रेस में भी नहीं था। राजस्थान के कोटा से सांसद ओम बिड़ला को आज निर्विरोध रूप से लोकसभा का अध्यक्ष चुना गया। आपको बका दें कि उनके खिलाफ किसी ने भी पर्चा नहीं भरा था, ऐसे में उनका चुना जाना तय था। कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, एनडीए के सभी दल और अन्य विपक्षी पार्टियों ने भी ओम बिड़ला के नाम का समर्थन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओम बिड़ला के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसका राजनाथ सिंह ने समर्थन किया। इसके बाद अमित शाह, अरविंद सावंत समेत अन्य कई सांसदों ने ओम बिड़ला का प्रस्ताव रखा और अन्य सांसदों ने उसका समर्थन किया। चुनाव की प्रक्रिया के बाद ओम बिड़ला ने स्पीकर पद की कुर्सी संभाली और सदन की कार्यवाही आगे बढ़ी। कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी इस प्रस्ताव का समर्थन किया गया।

BJP MP from Kota, Om Birla elected as the Speaker of the 17th Lok Sabha. pic.twitter.com/Cuwe3zbRSA

June 19, 2019

भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा स्पीकर के लिए एनडीए में अपने साथी शिवसेना, जेडीयू, अकाली दल के साथ मिलकर ओम बिड़ला का नाम आगे बढ़ाया। एनडीए के साथियों के अलावा ओडिशा की बीजू जनता दल ने भी ओम बिड़ला का समर्थन किया। वहीं कांग्रेस की बैठक में भी तय हुआ कि उनकी ओर से किसी को खड़ा नहीं किया जाएगा, इसी के साथ उनके निर्विरोध चुने जाने का रास्ता साफ हो गया था।

गौर करने वाली बात ये है कि ओम बिड़ला के प्रस्तावकों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के अलावा एनडीए के अन्य नेता शामिल थे।

देश में पिछले काफी समय से एक साथ विधानसभा और लोकसभा चुनाव कराने को लेकर चर्चा छिड़ी है। इसी बहस को आगे बढ़ाने के लिए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राजनीतिक दलों के प्रमुखों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में राष्ट्रीय पार्टियों, क्षेत्रीय पार्टियों के अध्यक्ष को शामिल होना है। ये बैठक बुधवार दोपहर 3 बजे संसद भवन की लाइब्रेरी में होगी।

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, बसपा प्रमुख मायावती, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बैठक में आने से इनकार कर दिया है।

कांग्रेस करेगी विरोध!

सूत्रों की मानें तो कांग्रेस एक देश एक चुनाव का पुरजोर विरोध कर सकती है। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि आज आप एक देश एक चुनाव की बात करेंगे, कल एक देश एक धर्म की बात होगी, फिर एक देश एक पहनावे की बात होगी।

UPA चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने करीब 10 विपक्षी नेताओं के साथ मुलाकात की। इस मुलाकात में सोनिया गांधी ने सभी लोगों से हालचाल जाना और यह तय किया कि कल एक बार फिर बैठक होगी और उसमें तय होगा कि वन नेशन वन इलेक्शन पर जो प्रधानमंत्री ने बैठक बुलाई है उसमें पार्टी के अध्यक्ष या उनके प्रतिनिधि जाएंगे या नहीं जाएंगे। सभी पार्टियां इस बात पर सहमत हैं कि वन नेशन वन इलेक्शन संभव नहीं है और यह ठीक भी नहीं है।

PM मोदी ने बुलाया है...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान ‘एक देश-एक चुनाव’ का मुद्दा जोरशोर से उठाया था। अब प्रधानमंत्री ने इसी पर एक कदम आगे बढ़ाते हुए, सभी राजनीतिक दलों के प्रमुख और राज्यों के मुख्यमंत्री को आमंत्रित किया है. हालांकि, विपक्ष इस बैठक में शामिल होने के एकमत नहीं है। ममता बनर्जी ने आने से इनकार कर दिया है, चंद्रबाबू नायडू भी नहीं आएंगे। इसके अलावा राहुल गांधी के आने पर सस्पेंस बना हुआ है।

विरोध कर सकती हैं विपक्षी पार्टियां...

वन नेशन, वन पोल को लेकर विपक्षी दल अभी राय साफ नहीं कर पाए हैं। सूत्रों की मानें तो कई विपक्षी दल इस प्रस्ताव का विरोध कर सकते हैं। जिस भी पार्टी का राज्यसभा या लोकसभा में सदस्य है, उसे आमंत्रण भेजा गया है। कांग्रेस आज सुबह इस बैठक को लेकर एक मीटिंग करेगी, जिसमें इसमें शामिल होने पर फैसला होगा तो वहीं एजेंडे पर बात होगी।

खास बात है कि आज ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का जन्मदिन भी है। ऐसे में उनके आने या ना आने पर भी हर किसी की नजर होगी. वहीं अगर ममता बनर्जी की बात करें तो उन्होंने ये कहकर बैठक में आने से इनकार कर दिया था कि इसको लेकर पहले सरकार को श्वेतपत्र लाना चाहिए, कानूनी जानकारों से बात करनी चाहिए और किसी तरह की जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए।

अगर गैर एनडीए दल की बात करें तो जगनमोहन रेड्डी, नवीन पटनायक, केसीआर की तरफ से उनके बेटे केटीआर और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव भी बैठक में शामिल होंगे। अरविंद केजरीवाल की जगह इस बैठक में राघव चड्डा शामिल होंगे।

एजेंडे में और क्या होगा

इस बैठक में वन नेशन वन पोल के अलावा भी कई मुद्दों पर बात होगी. 2022 में भारत अपनी आजादी के 75 साल पूरा कर लेगा, इसे मोदी सरकार बड़े रूप में मनाना चाहती है, जिस पर सभी दलों से बात हो सकती है। साथ ही महात्मा गांधी की 150वीं जयंती का जश्न और सदन में कामकाज के सुचारू रूप से चलने को लेकर बैठक में प्रधानमंत्री बात करेंगे।

 

अमित शाह के केंद्रीय गृह मंत्री बनने के बाद भारतीय जनता पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी और इस पर सोमवार को उस समय विराम लग गया जब पूर्व केंद्रीय मंत्री जगत प्रकाश नड्डा को पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने का ऐलान कर दिया गया। दिल्ली में बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में लिए फैसले के बारे में बताते हुए रक्षा मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने कहा कि नड्डा बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष होंगे. इस बीच अमित शाह पार्टी अध्यक्ष बने रहेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में अमित शाह के शामिल होने के बाद जेपी नड्डा को पार्टी की कमान सौंपी गई है। माना जा रहा है कि अमित शाह अगले 6 महीने तक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहेंगे. अमित शाह के साथ मिलकर ही जेपी नड्डा बतौर कार्यकारी अध्यक्ष पार्टी का कामकाज संभालेंगे। गृह मंत्रालय जैसे अहम विभाग संभालने के कारण अमित शाह की पार्टी पर ज्यादा ध्यान देने की संभावना कम ही है। ऐसे में नड्डा ही पार्टी के मुख्य कर्ताधर्ता रहेंगे, हालांकि अमित शाह अभी अध्यक्ष पद पर काबिज हैं और हर फैसले पर उनकी नजर रहेगी।

हिमाचल प्रदेश जैसे राजनीतिक लिहाज से कमतर राज्य से आने वाले जय प्रकाश नड्डा के लिए कार्यकारी अध्यक्ष पद पर काम करना बेहद चुनौतीपूर्ण रहेगा, अगर वह अगले 6 महीने के लिए भी पार्टी के प्रमुख के तौर पर काम करते हैं तो भी उनके सामने चुनौतियां कम नहीं होंगी।

अमित शाह की विशालकाय छवि

अमित शाह ने अपने कार्यकाल में बीजेपी को जिस मुकाम पर पहुंचाया उसे बनाए रखना अगले अध्यक्ष के लिए चुनौती भरा रहेगा। जेपी नड्डा अभी कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए हैं, लेकिन उनके सामने पार्टी को शीर्ष पर बनाए रखने के साथ-साथ खुद को एक सशक्त और दमदार अध्यक्ष के रूप में पेश करना होगा। सभी की नजर इस पर रहेगी कि वह इस मकसद में कितना कामयाब हो पाते हैं।

4 राज्यों में विधानसभा चुनाव

बतौर अध्यक्ष अमित शाह के दौर में बीजेपी को जिस तरह की बंपर कामयाबी मिली उसे बनाए रखना नड्डा के लिए चुनौतीपूर्ण है। उनके कार्यकारी अध्यक्ष के कार्यकाल (अगले 6-7 महीने) में कम से कम 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इनमें से दिल्ली को छोड़ 3 राज्य ऐसे हैं जहां पर बीजेपी खुद सत्ता में है और उसे सत्ताविरोधी माहौल के बीच चुनाव में जीत हासिल करने की चुनौती होगी। ये 3 राज्य हैं महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड. हरियाणा में अक्टूबर में विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है, तो महाराष्ट्र में नवंबर में. जबकि झारखंड में 5 जनवरी को कार्यकाल समाप्त हो रहा है। नड्डा के सामने इन तीनों राज्यों में बीजेपी की सत्ता पर पकड़ बनाए रखने की है. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में भी विधानसभा चुनाव होने हैं। अभी वहां राष्ट्रपति शासन है और अगले कुछ महीनों में वहां पर चुनाव होना है और पार्टी को बड़ी जीत दिलाने की जिम्मेदारी भी रहेगी।

दिल्ली में अरविंद केजरीवाल से चुनौती

दिल्ली विधानसभा का चुनाव भी अगले साल की शुरुआत में होने वाला है। विधानसभा का कार्यकाल 22 फरवरी, 2020 को खत्म हो रहा है। दिल्ली में इस समय आम आदमी पार्टी सत्ता में है और उसने पिछले विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत हासिल करते हुए दूसरी बार सत्ता पर काबिज हुई थी। बीजेपी की कोशिश पिछली बार ही सत्ता में लौटने की थी, लेकिन अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी ने बीजेपी के सपने को तोड़ दिया। हालांकि पिछले महीने खत्म हुए लोकसभा चुनाव में आप पार्टी का जो प्रदर्शन रहा उससे बीजेपी बेहद उत्साहित होगी क्योंकि उसने सभी सातों की सातों सीट पर कब्जा जमा लिया।

हालांकि 2014 के लोकसभा चुनाव में भी ऐसा ही हुआ था, लेकिन कुछ महीने बाद जब विधानसभा चुनाव आया तो बीजेपी को 70 में से सिर्फ 3 सीटें मिल सकीं. शेष 67 सीटों पर आम आदमी पार्टी विजयी रही थी. इस बार भी सातों सीटें जीतकर बीजेपी पूरे जोश में है, लेकिन नए कार्यकारी अध्यक्ष के सामने यह सुनिश्चित करना होगा कि 2015 के विधानसभा चुनाव जैसे हालात 2020 में न बनें। यह भी तय है कि विधानसभा चुनाव में केजरीवाल को चुनौती देना आसान नहीं होगा और इसके लिए कवायद अभी से शुरू कर देनी होगी।

शिवसेना को साथ रखने की चुनौती

लोकसभा चुनाव से पहले तक बागी तेवर बनाए रखने वाली शिवसेना ने बीजेपी के साथ चुनाव लड़ने का फैसला लिया और उसका यह निर्णय अन्य विपक्षी दलों के परिणाम देखने के बाद सही लगता है, लेकिन ऐसे में शिवसेना के वजूद पर ही खतरा मंडराने लगता है। नरेंद्र मोदी के दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपक्ष लेने के कुछ ही दिन में पार्टी सुप्रीमो उद्धव ठाकरे का अयोध्या जाना दिखाता है कि शिवसेना अपने अस्तित्व के लिए जद्दोजहद जारी रखेगी। हालांकि यह भी सही है कि बीजेपी इस बार भी अपने दम पर सत्ता में है, लेकिन नड्डा के सामने एनडीए को भी बनाए रखना बड़ी चुनौती होगी क्योंकि बीजेपी के बाद शिवसेना ही दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है।

बिहार में जेडीयू से दोस्ती

महाराष्ट्र की तरह बिहार में जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के साथ सत्ता पर काबिज बीजेपी के सामने गठबंधन को बनाए रखने की चुनौती है। बिहार में एनडीए को लोकसभा चुनाव में जोरदार जीत मिली है। अब कई मोर्चों पर नीतीश कुमार की सरकार को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। 2015 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू के नीतीश कुमार ने आरजेडी और कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और महागठबंधन के तहत जीत हासिल की थी, लेकिन बाद में नीतीश ने लालू प्रसाद यादव की आरजेडी के नाता तोड़ लिया और बीजेपी के साथ फिर से नई सरकार बना ली। राज्य में अगले डेढ़ साल में विधानसभा चुनाव होने हैं और यहां पर भी नड्डा के सामने एनडीए घटक दलों को साथ बनाए रखने की चुनौती रहेगी।

दक्षिण भारत के लिए नई रणनीति

बीजेपी को उम्मीद थी कि इस बार लोकसभा चुनाव में कर्नाटक के अलावा दक्षिण भारत के अन्य राज्यों से उसके खाते में कुछ सीटें आएंगी, लेकिन तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और केरल में बीजेपी की स्थिति काफी खराब रही। आंध्र और केरल समेत तमिलनाडु में बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिली. बीजेपी ने इन राज्यों में जीत के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाया था, लेकिन निराशा हाथ लगी। अब नड्डा के सामने दक्षिण में सीट जीतने के लिए नए सिरे से रणनीति बनानी होगी।

बड़बोले नेताओं पर लगाम लगाने की जिम्मेदारी

अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद कार्यकारी अध्यक्ष बने जेपी नड्डा के पास एक बड़ी चुनौती यह भी रहेगी कि वह अपने कई बड़बोले नेताओं पर किस तरह से लगाम लगा पाते हैं। गिरिराज सिंह, साध्वी प्रज्ञा और साक्षी महाराज जैसे नेता अक्सर अपने बयानों को लेकर पार्टी को संकट में डालते रहे हैं। पिछले दिनों इफ्तार को लेकर गिरिराज की टिप्पणी के बाद अमित शाह ने उनको फटकार लगाई और नियंत्रण रखने की सलाह भी दे डाली थी।

कश्मीर घाटी में आतंकियों ने पुलवामा को फिर दोहराने की कोशिश की। दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों ने सोमवार को आईईडी लगी कार से सेना के पेट्रोलिंग वाहन को उड़ाने की कोशिश की। इसमें वाहन का अगला केबिन बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया।

सूत्रों के अनुसार घटना में वाहन का चालक शहीद हो गया। वाहन में सवार 19 जवान घायल हो गए। दो नागरिक भी घायल हुए हैं। घटना के तुरंत बाद आस-पास के इलाकों में आतंकियों को तलाशने के लिए बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया गया। यह हमला पाकिस्तान की ओर से आईईडी वाहन से हमले के इनपुट दिए जाने के बाद एक दिन बाद ही सोमवार को हुआ। इनपुट में दक्षिणी कश्मीर में संभावित हमले का खतरा बताया गया था।

आरिहाल-पुलवामा रोड पर जिले के आरिहाल इलाके में सोमवार शाम को आतंकियों ने आईईडी लगी गाड़ी को उस वक्त ट्रिगर किया जब पास से सेना का पेट्रोलिंग वाहन गुजर रहा था। सूत्रों की मानें तो विस्फोट के तुरंत बाद पास ही में छिपे आतंकियों ने जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग की जिसका जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। सेना के जवानों की सतर्कता और समय रहते की गई कार्रवाई ने आतंकियों को मौके से भागने पर मजबूर कर दिया। सूत्रों के अनुसार हमले में वाहन में सवार 20 जवान और पास में खेतों में काम कर रहे नागरिक अब्दुल अहमद समेत दो घायल हो गए।

घायल जवानों को तुरंत सेना के 92 बेस अस्पताल ले जाया गया। यहां वाहन के चालक सिपाही बादल सिंह ने दम तोड़ दिया। केबिन में सवार दो अन्य जवानों की हालत गंभीर है। हालांकि, सेना की ओर से इस संबंध में अभी कोई अधिकृत बयान नहीं आया है। सेना के प्रवक्ता ने इस घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि आईईडी लगी गाड़ी से सेना की 44 राष्ट्रीय राइफल्स के पेट्रोल वाहन को निशाना बनाने की कोशिश की गई। हालांकि, यह प्रयास विफल रहा। कुछ को मामूली चोटें पहुंची हैं। बाकी सभी जवान सुरक्षित हैं। वाहन बुलेट तथा बारूदी सुरंग प्रूफ था, इस वजह से कम नुकसान हुआ।

 घटना के तुरंत बाद मौके पर अतिरिक्त बल पहुंचा और उनके द्वारा आस-पास के इलाकों में आतंकियों को तलाशने के लिए बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू किया गया। इस बीच एक अधिकारी ने बताया कि मौके से सैंपल ले लिए गए हैं और जांच शुरू कर दी गई है।

यह घटनास्थल 14 फरवरी को जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर पुलवामा जिले के लेथपोरा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए कार बम आत्मघाती हमले वाले स्थान से 27 किलोमीटर दूर है। लेथपोरा के पास हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

बिहार में भीषण गर्मी और लू के कारण अब तक 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। गया में गर्मी को लेकर धारा 144 लागू कर दी गई है।

गया के जिला मजिस्ट्रेट ने चिल चिलाती गर्मी को देखते हुए आदेश जारी कर सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे के बीच सरकारी और गैर-सरकारी निर्माण कार्य, मनरेगा श्रम कार्य और किसी भी सांस्कृतिक कार्यक्रम और खुले स्थानों पर लोगों के खड़े होने पर रोक लगा दी है। साथ ही बिहार के सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त करने वाले स्कूल 22 जून तक बंद रखने का भी आदेश दिया है। 

बता दें कि बिहार में दिमागी बुखार के बाद अब प्रचंड गर्मी कहर बरपा रही है। लू लगने से गर्मी के इस मौसम में अब तक 76 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे अधिक मौत गया और औरंगाबाद जिले में हुई हैं। आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने रविवार को बताया कि औरंगाबाद जिले में 30, गया में 35 और नवादा में 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

उन्होंने बताया कि मृतकों के परिजनों को मुआवजा मुहैया कराए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. मौसम विभाग के पटना कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक राजधानी पटना में शनिवार को अधिकतम तापमान 45.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य 9.2 डिग्री सेल्सियस अधिक था।

प्रचंड गर्मी के बीच हीट स्ट्रोक से लोग लगातार बीमार हो रहे हैं और अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लू से मरने वाले के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि संसदीय लोकतंत्र में सक्रिय विपक्ष महत्वपूर्ण होता है, लेकिन उसे अपने संख्याबल के बारे में परेशान होने की जरूरत नहीं है, बल्कि उन्हें सक्रियता से बोलने और सदन की कार्यवाही में भागीदारी करने की आवश्यकता होती है। 17वीं लोकसभा के सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री ने मीडिया से कहा, मुझे उम्मीद है कि यह सत्र एक सार्थक सत्र होगा।' 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि संसद में हमें ‘पक्ष’ और ‘विपक्ष’ भूल जाना चाहिए और ‘निष्पक्ष भाव’ से मुद्दों के बारे में सोचना चाहिए। देश के व्यापक हित में काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, 'आज नए संविधान से परिचय का समय है। हम नए उत्साह, नई उमंग के साथ काम करेंगे। जनता ने हमें काम करने का अवसर दिया है। जनता की आशा-आकाक्षांओं को पूरा करेंगे। जनता ने सबका साथ-सबका विश्वास में बहुत आत्मविश्वास भरा। हमारे लिए विपक्ष की हर बात और हर भावना मूल्यवान है। आने वाले पांच सालों में इस सदन की गरिमा को और बढ़ाएंगे।'

मोदी ने सभी सांसदों से आग्रह किया कि वे जब सदन में हों तो देश के बारे में सोचें और राष्ट्र के व्यापक हित से जुड़े मुद्दों का समाधान करें। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम संसद आते हैं तो हमें पक्ष और विपक्ष को भूल जाना चाहिए। हमें निष्पक्ष भावना के साथ मुद्दों के बारे में सोचना चाहिए और राष्ट्र के व्यापक हित में काम करना चाहिए। मोदी ने यह भी कहा कि नए सदन में महिला सांसदों की संख्या काफी है।

उन्होंने कहा कि मेरा अनुभव कहता है कि जब संसद निर्बाध रूप से चलती है तो हम भारत के लोगों की अनगिनत आकांक्षाओं को पूरा कर पाते हैं।

बिहार में रविवार को भीषण गर्मी के कारण कई लोगों की मौत हो गई। लू के कारण लोगों को घर से बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है। 

रविवार को इन जगहों पर हुई थी मौत

औरंगाबाद में करीब 15 लोगों की मौत हुई है, लेकिन अधिकारी इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

बक्सर में 6 लोगों की मौत।

शेखपुरा में 4 की मौत  ।

बाढ़ में लू लगने से किसान की मौत।

गया में मानपुर प्रखंड के पास 1 शख्स की मौत।

दानापुर में 1 युवती की मौत हो गई।

बेगूसराय में फुलवरिया थाना क्षेत्र के शोकहारा में लू लगने से शख्स की मौत।

नालंदा में लू लगने से भर्ती दो मरीजों की पावापुरी मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हो गई।

आपको बता दें कि शनिवार को बिहार में लू लगने से 70 लोगों की मौत हो गई थी। तापमान 46 के करीब था। जिसके कारण औरंगाबाद में 30, गया 25, नवादा में 13 और पटना में 3 लोगों की मौत हो गई थी।

100 से अधिक लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

आतंकवाद से निपटने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा कदम उठाया है। अब जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों और इसके पोषण के लिए फंड जुटाने वालों पर विशेष नजर रखी जाएगी। गृह मंत्रालय ने इसके लिए टेरर मॉनिटरिंग ग्रुप का गठन किया है, जो एडीआईजी सीआईडी, जम्मू कश्मीर पुलिस के नेतृत्व में संचालित होगा।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यह कदम जम्मू कश्मीर के मामलों को देखने वाली डेस्क के निर्देश पर उठाया है। इससे पहले भी राज्य में आतंकवाद व आतंकियों की कमर तोड़ने के लिए केंद्र ने लगातार कदम उठाए हैं। इस बार भी गठित किए गए टेरर मॉनिटरिंग ग्रुप का यही उद्देश्य है। बताया जा रहा है कि आतंक के खिलाफ बनाए गए इस ग्रुप के चेयरमैन एडीजीपी (सीआईडी) होंगे। साथ ही आईबी, एनआईए, सीबीआई, सीबीसी, सीबीडीटी और ईडी के लोगों को भी इस ग्रुप में शामिल किया गया है 

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों का आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन लगातार जारी है। इस बीच शुक्रवार को पुलवामा में सुरक्षाबलों ने हिज्बुल मुजाहिद्दीन के डिप्टी चीफ सैफुल्ला को घेर लिया और वहीं दो अन्य आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया है।
शुक्रवार सुबह से ही आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ चल रही थी, दोनों ही ओर से लगातार गोलिबारि जारि थीं।


ये मुठभेड़ पुलवामा के ब्रोबंदिना इलाके में हुई। जहां पर इनपुट मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने अपना ऑपरेशन शुरू किया और इलाके को घेर लिया।

सुरक्षाबलों की ओर से 55 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और पुलवामा पुलिस मोर्चा संभाले हुए हैं। दोनों ओर से मुठभेड़ के दौरान गोलियां चलने की आवाजें आ रही है। सेना आस-पास के इलाके में भी सर्च ऑपरेशन चला रही है।

पश्चिम बंगाल के कोलकाता मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों पर हमले से देशभर के डॉक्टरों में गुस्सा है। दिल्ली AIIMS सहित देश भर के सरकारी और निजी डॉक्टरों से शुक्रवार को एक दिन की हड़ताल में शामिल होने की अपील की गई है। इसके बाद दिल्ली AIIMS के RDA ने दिनभर हड़ताल पर रखने की घोषणा की है। इससे OPD के अलावा आपातकालीन सेवाएं भी प्रभावित होंगी। वहीं, रायपुर AIIMS ने भी गुरुवार शाम को हड़ताल में शामिल होने की घोषणा की। 

दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने राष्ट्रीय राजधानी में स्थित निजी और सरकारी अस्पताल, क्लिनिक व नर्सिंग होम को पत्र लिखकर देश व्यापी मेडिकल बंद को समर्थन करने की अपील की है। एसोसिएशन के अध्यक्ष और दिल्ली मेडिकल काउंसिल के सचिव डॉ. गिरीश त्यागी का कहना है कि पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ चुकी हैं। एक डॉक्टर कम संसाधनों के साथ 15 से 16 घंटे अस्पताल में बैठ 300 से 500 मरीजों तक का उपचार करता है, लेकिन डॉक्टर को मारपीट का शिकार होना पड़ता है। उन्होंने कहा कि कोलकाता मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों पर हुआ हमला चिकित्सीय क्षेत्र के लिए चिंताजनक है। 


वहीं, AIIMS RDA के अध्यक्ष डॉ. अमरिंदर सिंह ने बताया कि पश्चिम बंगाल में डॉक्टर हड़ताल पर हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी डॉक्टरों को न्याय दिलाने की जगह उन्हें कानून का हवाला देकर धमका रहीं हैं। देश भर में डॉक्टरों की सुरक्षा पर सवाल उठ खड़ा हुआ है। आए दिन अस्पतालों पर हमले, डॉक्टरों से मारपीट जैसी घटनाएं सामने आ रही हैं। इसीलिए AIIMS RDA ने फैसला लिया है कि शुक्रवार को दिनभर ओपीडी और आपातकालीन सेवाओं में तैनात रेजीडेंट डॉक्टर पश्चिम बंगाल में चिकित्सीय हड़ताल का समर्थन करेंगे। साथ ही एम्स परिसर में ही धरना प्रदर्शन करते हुए सरकार से डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर सख्ती से कानून लगाने की अपील भी करेंगे। इनके अलावा फेडरेशन ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन जूनियर डॉक्टर, यूआरडीए सहित डॉक्टरों के तमाम राष्ट्रीय संगठनों ने हड़ताल का फैसला लिया है। 

वायुसेना की सर्च टीम गुरुवार सुबह AN-32 की क्रैश साइट पर पहुंच गई है। उन्हें कोई जीवित नहीं मिला है। इसके बारे में सेना ने विमान में सवार सभी 13 यात्रियों के परिवारों को सूचना दे दी है। वायुसेना ने जान गंवाने वाले सभी यात्रियों को श्रद्धांजलि दी।

वहीं एएन-32 के ब्लैक बॉक्स समेत प्लेन में सवार सभी 13 लोगों के शव बरामद कर लिए गए। शवों को लाने के लिए विमान का इस्तेमाल किया जाएगा।

3 जून को असम के जोरहाट से उड़े AN-32 का मलबा 11 जून को अरुणाचल प्रदेश के टेटो इलाके के पास मिला था। इसके बाद क्रैश साइट पर पहुंचने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन मौसम खराब होने के कारण सर्च टीम पहुंच नहीं पा रही थी। बुधवार को 15 पर्वतारोहियों को एमआई-17s और एडवांस लाइट हेलिकॉप्टर (ALH) से लिफ्ट करके मलबे वाली जगह के नजदीक तक पहुंचाया गया।

जीएम चार्ल्स, एच विनोद, आर थापा, ए तंवर, एस मोहंती, एमके गर्ग, केके मिश्रा, अनूप कुमार, शेरिन, एसके सिंह, पंकज, पुताली और राजेश कुमार

जोरहाट से चीन की सीमा के पास अरुणाचल के मेंचुका के लिए उड़ान भरने वाला वायुसेना का एएन-32 विमान 3 जून दोपहर करीब एक बजे लापता हो गया था। इस विमान की आखिरी लोकेशन अरुणाचल के पश्चिम सियांग जिले में चीन की सीमा के पास मिली थी। एअररूट से 15 से 20 किलोमीटर दूर अरुणाचल प्रदेश के टेटो इलाके के पास घने जंगल में विमान का मलबा मिला।

 

जम्मू-कश्मीर में नाकाम होने के बाद पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI अब नया जाल बिछा रही है और इस जाल को बिछाने लिए ISI ने भारत-नेपाल बॉर्डर को चुना है। सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, ISI ने नेपाल में मौजूद लश्कर के स्लीपर सेल के कमांडर उमर मदनी को मॉड्यूल बनाने की जिम्मेदारी दी है।

उमर मदनी भारत-नेपाल बॉर्डर के तराई इलाके में मुस्लिम युवाओं का ब्रेनवाश करने में जुटा है। लश्कर ने अपने ऑपरेशन के लिए नेपाल के कपिलवस्तु में बेस बना रखा है। लश्कर कमांडर उमर मदनी नेपाल बॉर्डर एरिया से ब्रेनवाश किए युवाओं को पाकिस्तान भेजने की फिराक में है। खुफिया रिपोर्ट के बाद भारत नेपाल बॉर्डर पर सुरक्षा बलों को अलर्ट किया गया।

नेपाल के जरिये आतंकी घुसपैठ और आतंकी मॉड्यूल को पालने और पोसने का काम पाक ख़ुफ़िया एजेंसी लगातार करती रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, नेपाल के मोरंग जिले में लश्कर का संदिग्ध मौलाना उमर मदनी, नया मॉड्यूल बनाकर भारत विरोधी गतिविधियों को फैलाने में लगा है। सूत्रों के के हवाले से पता चला कि लश्कर-ए-तौयबा से जुड़ा मौलाना मदनी "नेपाल एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसाइटी" के जरिये भारत विरोधी गतिविधियों को तेजी से फैला रहा है।

ख़ुफ़िया एजेंसी ने गृह मंत्रालय को दी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भारत नेपाल के बॉर्डर से सटे कुछ नेपाल के जिलों में मौलाना उमर मदनी अपने NGO के जरिये विदेशों से फंड एकट्ठा कर रहा है। इस फंड का इस्तेमाल मदनी बॉर्डर एरिया के भोले भाले युवाओं का ब्रेनवाश कर लश्कर में शामिल करने के लिए कर रहा है। ख़ुफ़िया एजेंसियों ने इस बात की ओर भी इशारा किया है कि कैसे नेपाल रूट से विदेशी पैसा नेपाल के NGO में आ रहा है और इस NGO का इस्तेमाल मदनी मुस्लिम युवाओं को लश्कर में शामिल करने के लिए कर रहा है।

आतंकवाद को संरक्षण देने वाले पाकिस्तान के लिए 1751 किमी में खुली भारत-नेपाल की सीमा सबसे मुफ़ीद रही है। यही वजह है कि खूंखार आतंकी बाघा या अन्य बॉर्डर की बजाय इस रूट को ज्यादा तरजीह देते हैं।

 

दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में बुधवार को आतंकियों के हमले में CRPF के पांच जवान शहीद हो गए। आतंकियों ने CRPF की पेट्रोलिंग पार्टी पर पहले अंधाधुंध गोलियां बरसाईं फिर ग्रेनेड हमला किया। हमले में अनंतनाग के SHO भी गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर मौजूद एक महिला को भी चोट पहुंची है। जवाबी कार्रवाई में एक पाकिस्तानी हमलावर आतंकी मारा गया। घटना की जिम्मेदारी आतंकी संगठन अल उमर मुजाहिदीन ने ली है। हालांकि, कहा जा रहा है कि इसमें जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है।

घटना व्यस्ततम खन्नाबल-पहलगाम रोड पर अनंतनाग बस स्टेशन से एक किलोमीटर दूर महिला कालेज के पास की है। बताते हैं कि मोटरसाइकिल सवार दो आतंकियों ने वहां पेट्रोलिंग पार्टी को निशाना बनाकर अंधाधुंध फायरिंग की। इससे मौके पर ही एक जवान की मौत हो गई जबकि कुछ अन्य घायल हो गए। CRPF 116 बटालियन तथा पुलिस की संयुक्त पिकेट भी वहां तैनात रहती है। 

गोलियों की आवाज सुनकर SHO तथा डिवीजनल अफसर रक्षक वाहन से वहां पहुंचे तो आतंकियों ने दोनों गाड़ियों को निशाना बनाकर ग्रेनेड दागे। SHO की गाड़ी से टकराकर ग्रेनेड फट गया, जिसमें SHO अरशद खान घायल हो गए। डिवीजनल अफसर की गाड़ी को निशाना बनाकर दागा गया ग्रेनेड नहीं फटा। घटना के बाद एक आतंकी मौके से भाग निकला। 

सूत्रों के अनुसार, हमले में घायल जवानों को तत्काल अस्पताल ले जाया गया जहां पांच ने दम तोड़ दिया। सूत्रों के अनुसार, हमले में एएसआई रमेश कुमार ( झज्जर, हरियाणा), निरोद शर्मा (नलबारी, असम), कांस्टेबल सत्येंद्र कुमार (मुजफ्फर नगर, उत्तर प्रदेश), महेश कुमार कुशवाहा (गाजीपुर, उत्तर प्रदेश) व संदीप यादव (देवास, मध्य प्रदेश) शहीद हो गए। घायलों में SRPF के हेड कांस्टेबल राजेंदर, कांस्टेबल प्रेमचंद्र कौशिक, कांस्टेबल केदार नाथ ओझा शामिल हैं। हालांकि, पुलिस की ओर से इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। SHO को गंभीर अवस्था में सेना के श्रीनगर स्थित 92 बेस अस्पताल में ले जाया गया है। सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है। इलाके में व्यापक पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

एक जुलाई से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा के पहले अनंतनाग में हुए हमले को लेकर सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। इसी रास्ते से होकर अमरनाथ यात्री पहलगाम जाते हैं। इस वजह से सुरक्षा एजेंसियों की चिंता अधिक है। घटना के बाद पूरे इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। नाके लगाकर जगह-जगह चेकिंग की जा रही है। सूत्रों का कहना है कि खुफिया एजेंसियों की ओर से बस स्टैंड के आस-पास सुरक्षा बलों पर हमले का इनपुट पहले ही दिया गया था। 

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला तथा महबूबा मुफ्ती ने हमले की कड़ी निंदा की है। दोनों ने शहीदों के परिवार के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि इस प्रकार के बर्बरतापूर्ण हमले की जितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। 
 

14 फरवरी 2019 : दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा में CRPF की कानवाय पर फिदायीन हमला, 40 जवान शहीद।


30 मार्च 2019 : जम्मू संभाग के बनिहाल के पास जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर CPRF की कानवाय पर फिदायीन हमले की कोशिश, नुकसान नहीं।

 

सत्यपाल मलिक ने उन रिपोर्टों को खारिज कर दिया गया कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की योजना बना रही थी। इस बारे में गृह मंत्रालय से कोई पुष्टि नहीं हुई है। राज्य में परिसीमन एक अफवाह है।    

पत्रकारों से बात करते हुए प्रदेश के ऱाज्यपाल ने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए को लेकर फिक्र करने की जरूरत नहीं है। “राज्य में जो चुनाव हमने करवाए वह अच्छे से हुए। विधानसभा चुनाव के लिए जो सुरक्षा चाहिए वह मिलेगी तो हम तैयार है”।

इस बीच मुख्य सचिव ने कहा कि “चुनाव आयोग पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि अमरनाथ यात्रा समाप्त होने के बाद विधानसभा चुनावों की घोषणा की जाएगी”।

राज्यपाल ने कहा कि कश्मीर में भ्रष्टाचार बाकी जगहों से ज्यादा है। उसकी वजह यह है कि जो सत्ताधारी थे वह खुद ऐसे काम में शामिल थे। बड़ी मछली कोई भी हो वह बचेगी नहीं और कश्मीर को भ्रष्टाचार मुक्त किया जाएगा।

राज्य में भ्रष्टाचार के कुछ ऐसे मामले पाए गए हैं जिनमें पूर्व मंत्री तक शामिल रहे हैं। कुछ दिनों में इसका पता चल जाएगा। जेके बैंक पर हमने किसी भ्रष्टाचार के बुनियाद पर नहीं बल्कि आरबीआई के निर्देशों के अनुसार कार्रवाई की है।

पत्रकारों से उन्होंने कहा कि आगे आपको ऐसी चीजें देखने को मिलेंगी जो आपने सोची नहीं होंगी। जहां तक भ्रष्टाचार का सवाल है मैंने यहां आने के बाद दो ऐसे डील रद किए जिनमें 150-150 करोड़ का सौदा हुआ था। उसमें बहुत रसूखदार लोग शामिल थे।

 

मुझे प्रधानमंत्री को जाकर कहना पड़ा कि मैं यह डील कैंसिल कर रहा हूं। मैंने उनसे इजाजत ली और कहा कि मुझे यह कैंसल करनी होगी नहीं तो कागज पर अभी इस्तीफा दे दूंगा। मुझे किसी का डर नहीं और मैं पूरी सख्ती के साथ भ्रष्टाचार से लड़ूंगा।

 

सारे देश में दो परसेंट मांगते हैं, जबकि यहां 12 परसेंट मांगते हैं। इसलिए यहां कोई इन्वेस्ट नहीं करता। एक-एक फाइल को एक टेबल से दूसरे टेबल तक जाने में महीनों लग जाते हैं।

उदाहरण देते हुए एक एसआरओ के तहत जिन बच्चों के परिजन आतंकी कार्रवाई में मारे जाते हैं उन्हें नौकरी मिलती है। मुख्य सचिव की ओर से फाइल मेरे पा आ जाती है मैं साइन कर देता हूं। मुख्य सचिव द्वारा जारी ऑर्डर को पाने के लिए गरीब को एक लाख रुपया देना पड़ता है। अगर यहां की युवा पीढ़ी को यह यकीन दिलाया जा सके कि तुम्हारे हक पर किसी रसूखदार के बच्चे को तरजीह नहीं मिलेगी तो आधा आतंकवाद खुद खत्म हो जाएगा।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भाजपा के चुनावी नारे- 'मोदी है तो मुमकिन है' का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर की तारीफ की है। पोम्पियो 24 जून को भारत दौरे पर आने वाले हैं।

पोम्पियो ने बुधवार को भारत-अमेरिका व्यापार परिषद की बैठक में कहा कि वह ये देखना चाहते हैं कि मोदी दोनों देशों के रिश्ते को कैसे मजबूत बनाते हैं। उन्होंने एस जयशंकर को मजबूत साथी बताते हुए कहा कि वह अपने समकक्ष से मिलने के लिए उत्साहित हैं।

उन्होंने कहा, "जैसा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने हाल ही के चुनावी अभियान में कहा था, 'मोदी है तो मुमकिन है', मैं यह जानने के लिए उत्सुक हूं कि अमेरिका और भारत के बीच क्या मुमकिन है।

अब देखना है कि वह दुनिया के साथ रिश्तों और भारत की जनता से किए वादों को कैसे संभव बनाते हैं। उम्मीद है कि वे अमेरिका के साथ रिश्तों को और मजबूत करेंगे। भारत यात्रा के दौरान ट्रंप प्रशासन के महत्वाकांक्षी एजेंडे पर बातचीत होगी।"

उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच व्यापार के मुद्दों में कुछ अंतर हैं। लेकिन हम बातचीत के लिए हमेशा तैयार हैं। अपनी भारत यात्रा को लेकर उन्होंने कहा कि वह वास्तव में मानते हैं कि दोनों देशों के पास अपने लोगों, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और दुनिया की भलाई के लिए एक साथ आगे बढ़ने का अवसर है।

पोम्पियो भारत के अलावा श्रीलंका, जापान और दक्षिण कोरिया भी जाएंगे। संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन में चल रहे तनाव के बीच पोम्पियो की इस यात्रा को बेहद अहम माना जा रहा है। पीएम मोदी ने भी अमेरिका के साथ बढ़ते सहयोग का समर्थन किया है, खासतौर पर रक्षा क्षेत्र में।

लेकिन जब से ट्रंप प्रशासन ने भारत पर वेनेजुएला और ईरान से तेल ना खरीदने का दबाव बनाया है, तब से दोनों देशों के बीच व्यापार को लेकर चिंता थोड़ी बढ़ गई है। भारत पर मानदंडों को ठीक से ना मानने का आरोप लगाते हुए ट्रंप प्रशासन ने भारत को विशेष तरजीह वाले राष्ट्रों यानी जीएसपी की सूची से भी बाहर कर दिया है।

इससे पहले विदेश विभाग की प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने संवाददाताओं को बताया कि पोम्पिओ हिंद-प्रशांत क्षेत्र में 24 जून से 30 जून तक यात्रा करेंगे। इस यात्रा का मकसद मुक्त हिंद प्रशांत के साझा लक्ष्य को आगे बढ़ाने के लिए प्रमुख देशों के साथ अमेरिका के संबंध गहरे करना है।

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग स्थित केपी रोड पर आतंकियों ने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया। इस दौरान मौके पर मौजूद सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गयी है। दोनों तरफ से भारी गोलीबारी जारी है। 


इस मुठभेड़ में अबतक एक आतंकी मारा गया है। वहीं सीआरपीएफ के 3 जवान भी शहीद हो गए हैं। गोलीबारी में अनंतनाग पुलिस के एसएचओ और सीआरपीएफ के तीन जवानों को भी गोली लगी है। जिनको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

लंदन की लंदन की हाईकोर्ट ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को बड़ा झटका देते हुए उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी है। सुनवाई के दौरान जज ने कहा कि कर्ज अदायगी की नीरव की बात पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

यह नीरव मोदी द्वारा दाखिल की गई चौथी जमानत याचिका थी। पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाला भगोड़ा नीरव मोदी इस समय लंदन की जेल में बंद है।

 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में भ्रष्टाचार के मामलों में राजनेताओं की गिरफ्तारियों को सही ठहराते हुए कहा है कि वह देश को बुरी तरह कर्ज में डुबाने वाले 'चोरों' को नहीं बख्शेंगे। इमरान खान ने पिछले 10 वर्ष में चढ़े भारी कर्जों की जांच के लिए एक अधिकार संपन्न उच्च स्तरीय आयोग गठित करने की भी घोषणा की है। पाकिस्तान इस समय नकद धन की कमी से जूझ रहा है।  

प्रधानमंत्री खान ने अपनी सरकार का पहला बजट पेश किए जाने के बाद असामान्य तरीके से आधी रात को राष्ट्र को इस बारे में संबोधित किया। खान ने कहा कि पाकिस्तान की आर्थिक समस्याओं की जड़ में देश पर बकाया भारी कर्ज है। यह 10 साल में 6,000 अरब रुपये से बढ़कर 30,000 अरब रुपये पर पहुंच गया है।

इससे पहले मंगलवार को ही में दिन पंजाब विधानसभा के प्रतिपक्ष के नेता हम्जा शहबाज को गिरफ्तार किया गया। शहबाज को मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामलों में भ्रष्टाचार रोधी एजेंसी राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने गिरफ्तार किया है।

इससे पहले सोमवार को पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को नैब ने गिरफ्तार किया था। उन पर अरबों डॉलर के धन शोधन का आरोप है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भ्रष्टाचार के मामले में पहले से जेल में हैं।

खान ने कहा कि अर्थव्यवस्था को स्थिर करने की उनकी सरकार की शुरुआती पहलों के बाद उनका ध्यान उन लोगों को घेरने पर होगा जिन्होंने देश को इतने बुरे हालात में पहुंचाया। खान ने घोषणा की, "पाकिस्तान अब स्थिर है। उस दबाव (अर्थव्यवस्था को स्थिर रखने का) से राहत मिल चुकी है। अब मैं उनको नहीं बख्शूंगा।" 

उन्होंने कहा कि वह एक शक्ति प्राप्त उच्च स्तरीय जांच आयोग का गठन करने जा रहे हैं। इसका एक ही कार्यक्रम होगा कि वह पता लगाए कि कैसे उन्होंने 10 साल में कर्ज को 24,000 अरब रुपये तक बढ़ाया। उन्होंने कहा कि इस आयोग में संघीय जांच एजेंसी, आसूचना ब्यूरो, आईएसआई, संघीय राजस्व बोर्ड और पाकिस्तान प्रतिभूति एवं विनिमय आयोग के सदस्य शामिल होंगे।

पश्चिम बंगाल में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच चल रहा सियासी दंगल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है।  बुधवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल सरकार के खिलाफ कोलकाता में प्रदर्शन किया। इस दौरान बिपिन बिहारी गांगुली स्ट्रीट पर कोलकाता पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। 

पुलिस मुख्यालय की तरफ बढ़ रहे कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने पानी की बौछार भी की। इस दौरान दोनों पक्षों में ईंट-पत्थर भी जम कर बरसाए गए। पूरे कोलकाता शहर में सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ता जय श्री राम के नारे भी लगा रहे थे।

मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बंगाल को गुजरात में बदलने के लिए योजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा, "मैं राज्यपाल का आदर करती हूं लेकिन हर पद की अपनी संवैधानिक सीमा होती है। बंगाल को बदनाम किया जा रहा है। अगर आप बंगाल और उसकी संस्कृति को बचाना चाहते हैं तो साथ आएं। बंगाल को गुजरात में बदलने के लिए योजना बनाई जा रही है। बंगाल गुजरात नहीं है।" 

बता दें कल ममका बनर्जी ने कोलकाता में कॉलेज स्ट्रीट के स्कूल ग्राउंड में समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा का अनावरण किया था। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दौरान 14 मई को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई थी। 

इसमें विद्यासागर की प्रतिमा खंडित हो गई थी। दोनों पार्टियों ने एक-दूसरे पर मूर्ति तोड़ने का आरोप लगाया था। अब उसी जगह यानी की कोलकाता के विद्यासागर कॉलेज में नई मूर्ति लगाई गई है।
 

 

सपा सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति सहित अवैध खनन से जुड़े नेताओं व अफसरों के 22 ठिकानों पर सीबीआई छापेमारी कर रही है।

इस दौरान गायत्री के अमेठी स्थित घर में सीबीआई के करीब आधा दर्जन अधिकारी मौजूद हैं। अमेठी के आवास विकास में गायत्री प्रजापति का घर है। 

गौरतलब है कि गायत्री प्रसाद रेप केस के आरोप में जेल में बंद हैं। वहीं, गायत्री प्रजापति के भतीजे से सीबीआई पूछताछ कर रही है। इसके अलावा सिंचाई विभाग में घोटाले को लेकर कई जगह सीबीआई ने छापे मारे हैं।

सीबीआई टीम ने मीडिया को इस संबंध में कुछ भी बताने से इंकार किया है। छापेमारी की कार्रवाई जारी है। 

आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के मॉड्यूल्स की तलाश में राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA ने बुधवार की सुबह तमिलनाडु के कोयंबटूर में सात जगहों पर छापेमारी की। ISIS मॉड्यूल के जिस सरगना की NIA को तलाश है, वह श्रीलंका हमले के कथित मास्टरमाइंड जहरान हाशिम से प्रभावित बताया जा रहा है और फेसबुक पर वह हाशिम का दोस्त भी है। NIA ने इस मामले में नया केस दर्ज किया है। 

NIA ने कोयंबटूर में सात जगहों पर छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि आतंकी संगठन ISIS के एक मॉड्यूल का सरगना हाशिम के साथ फेसबुक के जरिए संपर्क में रहता था और दोनों के बीच अक्सर बातचीत हुआ करती थी। इसी IS मॉड्यूल की NIA को तलाश है। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि केरल में मौजूद इस्लामिक स्टेट के मॉड्यूल्स का श्रीलंका में हुए आतंकी हमले में हाथ हो सकता है। एजेंसिया इसी शक के आधार में जांच में जुटी है।

 

6 जून को हुई आरबीआई की MPC की समीक्षा बैठक में आरबीआई ने आम जनता को बड़ा तोहफा देते हुए रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट और नेशनल इलेक्ट्रिक फंड ट्रांसफर के जरिये होने वाला लेन-देन निशुल्क कर दिया था। अब केंद्रीय बैंक ने घोषणा की, यह नियम एक जुलाई से लागू होगा।  

RTGS और NEFT करने पर ग्राहकों से चार्ज वसूलते हैं। ऐसे में ग्राहकों के खाते से अतिरिक्त राशि कटती है। हालांकि अब एक जुलाई से बैंकों को RBI के नियम का पालन करना पड़ेगा, जिसका फायदा ग्राहकों को मिलेगा। 

क्या होता है RTGS

RTGS का मतलब है रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम। 'रियल टाइम' का मतलब है तुरंत। मतलब जैसे ही आप पैसा ट्रांसफर करें, कुछ ही देर में वह खाते में पहुंच जाए। आरटीजीएस दो लाख रुपये से अधिक के ट्रांसफर के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
भारत का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया आरटीजीएस के तहत पैसा भेजने पर पांच से 50 रुपये का शुल्क लेता है।

क्या है NEFT

NEFT का मतलब है नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर। इंटरनेट के जरिये दो लाख रुपये तक के लेन-देन के लिए एनईएफटी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिये किसी भी शाखा के किसी भी बैंक खाते से किसी भी शाखा के बैंक खाते को पैसा भेजा जा सकता है।

बस इकलौती शर्त ये है कि भेजने वाले और पैसा पाने वाले, दोनों के पास इंटरनेट बैंकिंग सेवा का होना जरूरी है। अगर दोनों खाते एक ही बैंक के हैं तो सामान्य स्थिति में कुछ सेकेंड्स के अंदर पैसा ट्रांसफर हो सकता है।
दरअसल आरबीआई अब तक आरटीजीएस और एनईएफटी लेन-देन पर एक लेवी बैंकों से लिया करता था और बदले में बैंक अपने ग्राहकों से यह पैसा वसूलते थे। अब यह लेवी की व्यवस्था हटा ली गई है।

 

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की चौथी जमानत याचिका की सुनवाई पूरी हो गई है। यह सुनवाई लंदन हाईकोर्ट में चल रही थी। कोर्ट अपना फैसला आज सुनाएगी। पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाला भगोड़ा नीरव मोदी इस समय लंदन की जेल में बंद है। उसने चौथी बार जमानत की अर्जी दाखिल की है। 

उसके मामले पर इंग्लैंड एंड वेल्स की उच्च न्यायालय मंगलवार को सुनवाई हुई। वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने तीन बार उसकी जमानत याचिका को खारिज किया है। इसी अदालत में उसे भारत प्रत्यर्पित करने के मामले की सुनवाई चल रही है। वह आर्थिक धोखाधड़ी के मामलों का सामना कर रहा है।

सुनवाई के दौरान नीरव मोदी का पक्ष रखने वाली क्लेयर मोंटगोमरी ने नीरव मोदी और उसके भाई के बीच भेजे गए ईमेल पढ़े। क्लेयर ने कहा, 'ये ईमेल स्पष्ट करते हैं कि किसी भी तरह के गवाह के हस्तक्षेप का कोई सबूत नहीं है। हमन अबुधाबी से गवाहों को देख चुके हैं जिन्होंने प्रवर्तन निदेशलय (ईडी) के ईमेल का जवाब दिया है।' 

क्लेयर ने कहा, 'वह यहां पूंजी बढ़ाने आया था, यह जानने के लिए कि दुनिया में उसे कहां रहने की जरूरत है। यदि उसे जमानत मिलती है तो वह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के माध्यम से टैग किए जाने को और ट्रैक किया जाने वाला फोन रखने को तैयार है।' क्लेयर ने कहा कि अब जब उस पर प्रत्यर्पण का मामला शुरू हो रहा है, वह कहीं भाग कर नहीं जा सकता। उसकी बेटी और बेटे भी यहीं आ रहे हैं, वह यूनिवर्सिटी में पढ़ाई शुरू करने वाले हैं। 

वहीं, भारत सरकार का प्रतिनिधित्व करने वाली क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने लंगन के रॉयल कोर्ट्स में नीरव मोदी की जमानत याचिका पर कहा, 'आरोप संगीन और आपराधिक कृत्यों के हैं। जज का कहना है कि ये सिर्फ आरोप हैं। इनसे नियत समय में निपटा जाएगा। यह असुरक्षित ऋण देने की बात है।'

वहीं, जज ने स्पष्ट किया कि उन्होंने मामले के बारे में यह समझा है कि डमी पार्टनर का इस्तेमाल कर लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग जारी किया गया और पैसा अलग-अलग कंपनियों को भेजा गया। क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने इसकी पुष्टि की। 

क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने कहा कि यदि प्रत्यर्पण की सुनवाई के दौरान नीरव मोदी को जमानत मिलती है, तो यह अलग बात है। लेकिन, चूंकि वह गंभीर आरोपों का सामना कर रहा है, ऐसे में उसे जमानत नहीं मिलनी चाहिए। 

जज ने कहा कि इस स्तर पर नीरव मोदी के पास उच्चस्तरीय कानूनी टीम है, जो प्रत्यर्पण रोकने के लिए भारत सरकार का सामना करने की योजना बना रहे हैं। उसके पास प्रत्यर्पण को विफल करने का एक अच्छा मौका है। यदि उसे प्रत्यर्पित किया जाता तो उसे उसी समय गिरफ्तार किया जा सकता था। 

क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने कहा नीरव मोदी का ब्रिटेन आना कोई संयोग नहीं है। जिस तरह से उसने धोखाधड़ी की है, उसे पता था कि यह दिन आने वाला था। वह नकद राशि जमाकर जमानत पाने की कोशिश कर रहा था, जो पांच लाख पाउंड से शुरू होकर 20 लाख पाउंड तक पहुंच गई है। 

जज ने पूछा कि नीरव मोदी का भाई निहाल मोदी कहां है, इस पर क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने बताया कि फिलहाल वह अमेरिका में है। जज ने जेठवा के बारे में भी पूछा, क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने कहा कि वह डमी डायरेक्टर है। प्रॉसीक्यूशन ने कहा कि यदि नीरव मोदी को जमानत मिली तो वह सबूतों के साथ छेड़छाड़ कर सकता है। 

उत्तर प्रदेश के गोण्डा ज़िले में गंदा खाना खाने से फूड प्वाइजनिंग का मामला सामने आया है।  करर्नलगंज क्षेत्र के मनिहारी शिवलाल पुरवा में शादी समारोह में दोनों पक्षों के परिवार के 80 से ज्यादा लोग दूषित भोजन खाने से बीमार हो गए। जिसमे 24 की हालत गंभीर है।

जिनका इलाज स्वास्थ्य टीम कर रही है जबकि बाकी मरीज़ों का इलाज वहां के स्थानीय डॉक्टर खुले में तख्त बिछाकर कर रहे है। इसी कड़ी में जिले के डीएम नितिन बंसल ने बताया कि सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर भेज दी गयी है और उनका इलाज चल रहा है। आपको बतादे कि गोण्डा में हर रोज़ मिलावटी खाना कानपुर, हापुड़ और गजियाबाद से आता है। जो खुलेआम बेचा और खरीदी जाता है।  कुछ दिन पहले एडीएम ने संबंधित विभाग को छापामारी के आदेश भी दिया। लेकिन विभाग ने अभी तक कोई कार्यवाही नही की है।

सिनेमाजगत में 49 साल तक राज करने वाले एक्टर गिरीश कर्नाड  अब हमारे बीच नहीं रहे। गिरीश कर्नाड के निधन की खबर से बॉलीवुड में शोक की लहर है। गिरीश लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था और उन्हें सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी। जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां आज सुबह उनका निधन हो गया। गिरीश के निधन की खबर मिलते ही राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित बॉलीवुड की कई हस्तियों ने एक्टर को सोशल मीडिया पर भावभीनी श्रद्धांजलि दी। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिखा- 'लेखक, अभिनेता और भारतीय रंगमंच के सशक्त हस्ताक्षर गिरीश कर्नाड के देहावसान के बारे में जानकर दुख हुआ है। उनके जाने से हमारे सांस्कृतिक जगत की अपूरणीय क्षति हुई है। उनके परिजनों और उनकी कला के अनगिनत प्रशंसकों के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं।' 

राष्ट्रपति के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गिरीश कर्नाड के निधन पर शोक व्यक्त किया। पीएम मोदी ने ट्वीट किया- 'गिरीश कर्नाड को सभी माध्यमों में उनके बहुमुखी अभिनय के लिए याद किया जाएगा। उनके काम आने वाले वर्षों में लोकप्रिय होते रहेंगे। उनके निधन से दुखी हूं। उनकी आत्मा को शांति मिले।' 

सोनम कपूर ने भी गिरीश कर्नाड को सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि दी। सोनम कपूर ने लिखा- 'भगवान आपकी आत्मा को शांति दे। मुझे उनका काम बहुत पसंद था।' वहीं श्रुति हासन ने ट्वीट किया-  'भगवान आपकी आत्मा को शांति दे गिरीश कर्नाड सर। आपका हास्य हमेशा याद किया जाएगा।' 

 बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार की सुबह ट्रिपल मर्डर से सनसनी फैल गई। कोतवाली थाना क्षेत्र में एक घर से तीन लोगों के खून से लतपथ शव बरामद किए गए। बताया जाता है कि पटना के एक बड़े व्‍यवसायी ने पहले पत्नी और बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी, फिर खुद को भी गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली। घटना में जिंदा बच गए एक बच्चे को गंभीर अवस्था में इलाज के लिए नगर के एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के कारण फिलहाल अज्ञात हैं। 

विदित हो कि मृतक व्‍यवसायी इशांत ने हाल ही में पटना के खेतान मार्केट में रिटेल टेक्सटाइल दुकान की लॉन्चिंग की थी, जिसमें बॉलीवुड एक्‍ट्रेस अमीषा पटेल आई थीं। इस परिवार का कपड़ा के साथ-साथ ज्वेलरी का भी व्यवसाय है। उनके नाम से पटना में कई दुकान और व्यावसायिक कॉप्ललेक्स हैं। 

जानकारी के अनुसार कोतवाली थाना क्षेत्र के किदवईपुरी में निशांत (37) पत्नी अल्का सर्राफ (35) औऱ दो बच्चों अनन्या (9) व इशान (4) के साथ रहते थे। निशांत पटना के एक बड़े व्‍यवसायी थे। राजधानी के खेतान मार्केट में उनकी कपड़े की दुकान है। बताया जाता है कि बीती रात परिवार के सभी लोग खाना खाकर सो गए। सुबह जब काफी देर तक कोई नहीं उठा तो पड़ोस के लोगों को शक हुआ। इसके बाद दरवाजा तोड़ा गया तो अंदर बेड रूम में निशांत, उनकी पत्नी और बेटी के शव पड़े थे। 

घटना स्‍थल पर निशांत की नाक और मुंह से खून निकल रहा था। पत्नी और बेटी के शव भी खून से लथपथ थे। वहीं चार साल का छोटा बेटा इशान तड़प रहा था, जिसे तुरंत इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। डीआइजी, एसएसपी, डीएसपी जांच के लिए  घटना स्थल पर पहुंचे। जोनल आइजी सुनील कुमार के मुताबिक मौके से निशांत का लिखा सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें उसने घटना की जिम्मेदारी ली है। घटना स्‍थल से बरामद तीन खाली खोखे व पिस्टल बैलेस्टिक जांच के लिए भेजे गए हैं। 

यूपी के सबसे आधुनिक और सबसे बड़े थाने का उद्घाटन किया गया है। राजधानी लखनऊ में स्थित इस थाने में कई हाईटेक सुविधाएं है। आवास विकास परिषद ने इस थाने का निर्माण काम 1 फरवरी 2016 को शुरू किया था। 26 मार्च को आवास विकास ने तीन मंजिल थाने के भवन को पूरी तरह बनाकर तैयार कर दिया।

इसके बाद भवन को पुलिस विभाग के हैण्डओवर कर दिया गया। मार्च से लेकर अब तक इस थाने को पूरी तरह आधुनिक बनाया गया।  644.2 लाख रुपये की लागत से थाने को तैयार किया गया।

 

उत्तर भारत में गरमी बढ़ते ही लोग चिलचिलाती गर्मी और उमस से निजात पाने के लिए पहाड़ की ओर रुख करना शुरू कर देते हैं। लेकिन अब पहाड़ो पर जाना भी लोगों के लिए आफत से कम नहीं आए।  गर्मी से निजात पाने के लिए हिमाचल प्रदेश में भारी संख्या में पर्यटक हर रोज पहुंच रहे हैं। लेकिन अब पर्यटकों को वहां भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

दरअसल हिमाचल प्रदेश में रोहतांग पास से मनाली के बीच 6 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। जाम के कारण लोगों को घंटों अपनी गाडियों में ही बैठना पड़ा। चंद किलोमीटर के सफर को जाम के चलते लोगों ने घंटों में पूरा किया। वहीं दूसरी तरफ उत्तराखंड भी समस्या से अछूता नहीं है। उत्तराखँड में चार धाम यात्रा चल रही है। और चार धाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को कई घंटों जाम में मंदिरों तक पहुंचने का इंतजार करना पड़ रहा है।

लोकसभा सचिवालय की तरफ से अजीबोगरीब गलती सामने आई है। सचिवालय ने सांसदों के लिए खाली बंगलों की सूची जारी की है, जिसमें 12 तुगलक लेन भी शामिल है। दिलचस्प बात है कि यह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का आधिकारिक आवास है, जिसमें वह साल 2004 से रह रहे हैं।

जब राहुल गांधी पहली बार अमेठी लोकसभा सीट से जीते थे, तब से 12 तुगलक लेन उनका आवास है। सचिवालय ने जो सर्कुलर जारी किया है। उसमें उन बंगलों का पता है, जिन्हें हाल ही में चुनाव जीतने वाले सांसदों को अलॉट किया जाएगा।  राहुल गांधी का बंगला टाइप 8 कैटिगरी है, जो सबसे बड़ा है। इस सर्कुलर के बाद कांग्रेस ने कहा कि इस हरकत पर माफी मांगनी चाहिए।

वित्त मंत्रालय ने आयकर विभाग के 12 वरिष्ठ अधिकारियों से इस्तीफा मांगकर अनिवार्य तौर पर रिटायर कर दिया है। वित्त मंत्रालय ने नियम 56 के तहत ऐसा किया है। समाचार एजेंसी एएनआई ने वित्त मंत्रालय के सूत्रों के जरिए यह जानकारी दी है।

 

जिन लोगों को मंत्रालय ने रिटायर किया है उनमें मुख्य आयुक्त, प्रमुख आयुक्त और आयुक्त शामिल हैं। यह सभी आयकर विभाग में कार्यरत थे।  

सुत्रों के मुताबिक इनमें से कुछ अधिकारियों पर भ्रष्टाचार, आय से अधिक संपत्ति और यौन उत्पीड़न का आरोप लगा था। इन पर वित्त मंत्रालय ने अपनी तरफ से जांच की थी, जिसके बाद यह कदम उठाया गया है।

 

पिछले साल की शुरुआत में पूरे देश को झकझोर देने वाली जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुई रेप और मर्डर की घटना पर आज फैसला सुनाया गया. 8 साल की बच्ची के साथ रेप करने वाले कुल सात में से 6 आरोपियों को दोषी करार दिया है. इनमें से तीन को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. जिन दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है, उनमें सांझी राम, दीपक खजुरिया और परवेश शामिल हैं. इससे पहले पठानकोट की अदालत ने मुख्य आरोपी सांजी राम समेत अन्य 6 आरोपियों को दोषी करार दिया. सातवें आरोपी विशाल को बरी कर दिया गया है

देश के जाने माने समकालीन लेखक, नाटककार, अभिनेता और फिल्म निर्देशक गिरीश कर्नाड का 81 साल की उम्र में सोमवार को निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। पद्मश्री, पद्मभूषण और ज्ञानपीठ पुरस्कार पाने वाले गिरीश कर्नाड को अमर उजाला की ओर से आकाशदीप सम्मान दिया जा चुका है। दिल्ली के तीनमूर्ति सभागार में अमर उजाला ने शब्द सम्मान समारोह में उन्हें वर्ष 2018 के सर्वोच्च सम्मान 'आकाशदीप' से नवाजा गया था। 

भारतीय भाषाओं के सामूहिक स्वप्न के सम्मान में अमर उजाला फाउंडेशन द्वारा लेखन-जीवन के समग्र अवदान के लिए सर्वोच्च शब्द सम्मान 'आकाशदीप' दिया जाता है। साल 2018 के लिए हिंदी के प्रख्यात आलोचक डॉ. नामवर सिंह और हिंदीतर भाषाओं में विख्यात कलाकर्मी-चिंतक गिरीश कर्नाड को यह सम्मान दिया गया था। सम्मान में पांच-पांच लाख रुपये की राशि सम्मिलित होती है। हिंदी दिवस की पूर्व-संध्या पर इसकी घोषणा की गई थी। 

अमर उजाला के इस शब्द सम्मान समारोह के मौके पर पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणव मुखर्जी भी आए थे। उनकी ओर से बेटे रघु ने पूर्व राष्ट्रपति से यह सम्मान रिसीव किया था। उन्होंने इसे अनूठी और सराहनीय पहल बताया था। इस समारोह में डॉ. नामवर सिंह के साथ गिरीश कर्नाड का नाम तय किया गया था। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने अमर उजाला के इस कार्यक्रम की तस्वीरें ट्विटर पर शेयर की है। उन्होंने लिखा कि गिरीश कर्नाड के निधन पर गहरा दुख हुआ। उनका निधन भारतीय सिनेमा और साहित्य के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। 

आकाशदीप सम्मान मिलने पर गिरीश ने कहा था कि वे शब्द सम्मान की गरिमा से अभिभूत हैं। उन्होंने कहा था कि यदि आप गड़बडिय़ों, अव्यवस्थाओं और कोलाहल के बीच भ्रम को नहीं समझ सकते, तो आप नाटकों में हो ही नहीं। 

अमर उजाला शब्द सम्मान समारोह में गिरीश कर्नाड ने कहा था कि मैं भाग्यशाली रहा कि विविध भाषा संस्कृति में पला-बढ़ा। यही कारण है कि मैं अच्छी हिंदी बोल सकता हूं। मैं कवि बनना चाहता था। मेरी थियेटर में भी रुचि थी, लेकिन मेरा नाटक लेखक बनने का कोई इरादा नहीं था। स्कॉलरशिप मिलने के बाद मैं लंदन पहुंचा। उस समय एक धारणा थी कि यदि मैं विदेश जाउंगा, तो मैं विदेश की किसी गोरी मेम से शादी कर लूंगा। तभी एक दिन मेरे मन में ययाति लिखने का विचार आया। इसके बाद जिंदगी में कई मोड़ आए।

उन्होंने कहा था कि नाटकों के लेखन-निर्देशन, अभिनय के अलावा फिल्म निर्देशन में भी आया। जादूगरी में भी मेरी दिलचस्पी थी। जादू के शो चाव से देखता था। लेकिन जादू नहीं कर पाया। फिर मैंने मुंबई छोड़ा और वापस आ गया, क्योंकि मेरी पत्नी कहती थी कि बहुत हो गया हिंदी सिनेमा। मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे आज भी ऑफर आते हैं। मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज नाटक था। आज भी है। फिल्मों से पैसा कमाया। कभी आत्मसंतुष्टि नहीं हुई। मेरे सभी नाटक कन्नड़ भाषा में हैं। हिंदी और कन्नड़ ने मुझे बनाए रखा है।

लोकसभा चुनाव खत्म  हो गए। नतीजे भी आ गए, लेकिन प.बंगाल में टीएमसी और भाजपा के बीच हो रही हिंसा खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। बिगड़ती कानून व्यवस्था को देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को आगाह किया है।

इधर, राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। वह रविवार को ही कोलकाता से दिल्ली पहुंचे।

इधर, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा में अक्सर तनाव और झड़प की खबरें सामने आ रही है, जिसके बाद गृह मंत्रालय ने बंगाल सरकार को एडवाइजरी जारी करते हुए आगाह किया है। वहीं, बंगाल पुलिस से टकराव के बाद भाजपा आज बंगाल में काला दिवस मनाने जा रही है।

हालांकि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी से उनकी शिष्टाचार मुलाकात है। इसे अन्य विषय से जोड़कर न देखा जाए। वहीं, दूसरी ओर पीएम मोदी से राज्यपाल की इस मुलाकात के बारे में तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। 

मालूम हो कि उत्तर 24 परगना में शनिवार को हुई झड़प के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं के अंतिम संस्कार को लेकर बंगाल पुलिस और नेताओं के बीच तनातनी हो गई थी। रविवार को बशीरहाट में अंतिम दर्शन के लिए भाजपा कार्यालय ले जाए जा रहे शवों को पुलिस ने रोका था, जिसके बाद पुलिस पर मनमानी करने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने सोमवार को बशीरहाट में 12 घंटे का बंद और पूरे बंगाल में काला दिवस मनाने का एलान किया। 

बंगाल में जारी सियासी संघर्ष और हत्याओं पर केंद्र सरकार ने गहरी चिंता जताई है। ममता सरकार को जारी एडवाइजरी में गृह मंत्रालय ने कहा कि चुनाव के बाद भी जारी हिंसाएं राज्य सरकार की नाकामी दिखाती है। टीएमसी सरकार को राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने और हिंसा में नाकाम पदाधिकारियों पर कार्रवाई करने को कहा गया है। 

गृह मंत्रालय की एडवाइजरी के जवाब में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव मलय कुमार डे ने गृह मंत्रालय को पत्र लिख कर जवाब दिया है। इसमें उन्होंने राज्य में हालात काबू में होने का दावा किया है। पत्र में लिखा है कि चुनाव के बाद कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा हिंसा की गई थी। इस प्रकार के मामलों को रोकने के लिए अधिकारियों द्वारा बिना किसी देरी के कार्रवाई की गई। मलय ने आगे लिखा कि राज्य में स्थिति नियंत्रण में है और इस प्रकार की घटनाओं के आधार पर राज्य में कानून व्यवस्था को असफल नहीं माना जा सकता। 

 

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुई रेप और मर्डर की घटना पर आज फैसला सुनाया गया। 8 साल की बच्ची के साथ रेप करने वाले कुल सात में से 6 आरोपियों को दोषी करार दिया है। पठानकोट की अदालत ने मुख्य आरोपी सांजी राम समेत अन्य 6 आरोपियों को दोषी करार दिया है। इसके अलावा सातवें आरोपी विशाल को बरी कर दिया गया है। इन सभी आरोपियों की सजा का ऐलान भी आज दोपहर दो बजे किया जाएगा।

ग्राम प्रधान सांजी राम (मुख्य आरोपी)

स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया,

रसाना गांव परवेश दोषी,

असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर तिलक राज,

असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता,

पुलिस ऑफिसर सुरेंद्र कुमार

जबकि सांजी राम का बेटे विशाल को बरी कर दिया है। कठुआ मामला जब सामने आया था तो देश ही नहीं दुनिया में इसने सुर्खियां बटोरी थीं। आम आदमी से लेकर बॉलीवुड के सेलेब्रिटी भी इंसाफ की गुहार लगा रहे थे।

इस मामले में पुलिस ने कुल 8 लोगों को गिरफ्तार किया, जिनमें से एक को नाबालिग बताया गया। हालांकि, मेडिकल परीक्षण से यह भी सामने आया कि नाबालिग आरोपी 19 साल का है। पूरी वारदात के मुख्य आरोपी ने खुद ही सरेंडर कर दिया था।

बता दें कि शुरुआत में इस मसले को जम्मू कोर्ट में सुना गया लेकिन बाद में पठानकोट कोर्ट में इसकी सुनवाई हुई जहां पर आज इसका फैसला सुनाया गया।

इस फैसले को देखते हुए पठानकोट कोर्ट परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया था। यहां पर एक हज़ार से अधिक पुलिसकर्मियों को मुस्तैद किया गया, साथ ही बम निरोधक दस्ता, दंगा नियंत्रक दस्ता भी यहां पर तैनात रहे।

जिन 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया था उनमें स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया, पुलिस ऑफिसर सुरेंद्र कुमार, रसाना गांव का परवेश कुमार, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता, हेड कांस्टेबल तिलक राज, पूर्व राजस्व अधिकारी का बेटा विशाल और उसका चचेरा भाई (जिसे नाबालिग बताया गया) शामिल था। इसके अलावा मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान सांजी राम भी पुलिस की गिरफ्त में है।

कठुआ गैंगरेप मामले में SC के पास इसका ट्रायल चंडीगढ़ शिफ्ट करने और मामले को CBI को देने संबंधी याचिकाएं मिली थीं। पीड़िता के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर केस को जम्मू-कश्मीर से बाहर ट्रांसफर करने की मांग की थी, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला लेते हुए मामले की सुनवाई पंजाब में पठानकोट कोर्ट को ट्रांसफर किया था। SC ने इस मामले की CBI जांच की मांग को खारिज कर दिया था।

कठुआ रेप की घटना 10 जनवरी, 2018 को हुई थी। परिवार के मुताबिक, बच्ची 10 जनवरी को दोपहर में घर से घोड़ों को चराने के लिए निकली थी और उसके बाद वो घर वापस नहीं लौटी थी. करीब एक हफ्ते बाद 17 जनवरी को जंगल में उस बच्ची की लाश मिली थी।

मेडिकल रिपोर्ट में पता चला था कि बच्ची के साथ कई बार कई दिनों तक सामूहिक बलात्कार हुआ है और पत्थरों से मारकर उसकी हत्या की गई है। उसके बाद बच्ची के साथ गैंगरेप कर उसकी हत्या पर देशभर में काफी बवाल मचा था।

 

लोकसभा चुनाव के बाद पुलिस महकमे में पहला बड़ा फेरबदल करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने 17 IAS अधिकारियों के तबादले कर दिये हैं।

इन अफसरों का किया गया है तबादला

1 - संजय कुमार सहारनपुर मंडलायुक्त बनाए गए।

2 - जगत राज सचिव माध्यमिक शिक्षा बनाए गए।

3 - कनक त्रिपाठी आजमगढ़ मंडलायुक्त बनाई गईं।

4 - सी. इंदुमती सुल्तानपुर डीएम बनाई गईं।

5 - दिव्य प्रकाश गिरि अपर आयुक्त आबकारी प्रयागराज।

6 - चंद्र विजय सिंह जिलाधिकारी फिरोजाबाद बने।

7 - सेल्वा कुमारी जे. विशेष सचिव ग्राम्य विकास।

8 - आदर्श सिंह जिलाधिकारी बाराबंकी बनाए गए।

9 - उदय भानु त्रिपाठी विशेष सचिव माध्यमिक शिक्षा।

10 - राकेश कुमार मिश्र डीएम अम्बेडकरनगर।

11 - सुरेश कुमार विशेष सचिव ग्राम्य विकास विभाग।

12 - नागेंद्र प्रसाद सिंह डीएम आजमगढ़ बनाए गए।

13 - शिवाकांत द्विवेदी प्रतीक्षारत किए गए।

14 - शेषमणि पांडेय जिलाधिकारी चित्रकूट बनाए गए।

15 - विशाख जी. विशेष सचिव मुख्यमंत्री बनें।

16 - ओम प्रकाश आर्य जिलाधिकारी सिद्धार्थनगर।

17 - कुणाल सिल्कु विशेष सचिव नगर विकास विभाग।

 

लोकसभा चुनाव समाप्त होने के बाद भी पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी है। शनिवार की शाम 24 परगना जिले के नजत इलाके में भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में चार लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन लोग घायल हो गए हैं। दोनों ही पार्टी के सूत्रों ने इस बात का दावा किया है।

हालांकि पुलिस ने इन मौतों पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। पुलिस का कहना है कि स्थिति को नियंत्रित करने के लिए बड़ी संख्या पुलिस दल को घटनास्थल पर भेजा गया था। भाजपा के सूत्रों ने दावा किया है कि संबंधित इलाके से पार्टी के झंडे हटाने पर हिंसा की शुरुआत हुई। 

भाजपा नेता सायंतन बसु ने बताया कि उनकी पार्टी के तीन कार्यकर्ता (सुकांता मंडल, प्रदीप मंडल और शंकर मंडल) की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई, जब वह टीएमसी कार्यकर्ताओं को भाजपा के झंडे हटाने से रोक रहे थे।

बसु ने बताया, "हमें अपने तीन कार्यकर्ताओं का शव मिला है। हमने सुना है कि दो और कार्यकर्ताओं की भी मौत हो गई है लेकिन अभी उनके शव नहीं मिले हैं। वो हमारी पार्टी के झंडे और पोस्टर हटाने की कोशिश कर रहे थे, जब हमने विरोध किया तो हमारे कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई।"

भाजपा के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय का कहना है कि पार्टी इस घटना के बारे में केंद्रीय मंत्री अमित शाह को बताएगी। वहीं टीएमसी भी दावा कर रही है कि उसके एक समर्थक की मौत हो गई है।

24 परगना जिले के अध्यक्ष और मंत्री ज्योतिप्रियो मुल्लिक का कहना है कि उनकी "पार्टी के कार्यकर्ता कायुम मोल्लाह को भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने गोली मार दी है।"

इस मामले पर भाजपा के नेशनल सेक्रेटरी कैलाश विजयवर्गीय का कहना है, "केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से स्थिति पर रिपोर्ट मांगी है और मुझे यकीन है कि केंद्र इसे गंभीरता से लेगी। घटना को लेकर लोगों में काफी गुस्सा है।"

मोदी सरकार-2 कैबिनेट में जदयू को जगह न मिलने पर नाराज जदयू ने बड़ा फैसला लिया है। नीतीश कुमार ने तय किया है कि बिहार के बाहर जदयू भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए का हिस्सा नहीं रहेगी। जम्मू कश्मीर, झारखंड, हरियाणा और दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनावों में जदयू अकेले लड़ेगी। वहीं राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के अनुसार, बिहार में वह एनडीए का हिस्सा रहेगी और भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी। 

नीतीश कुमार की अध्यक्षता में पटना में मुख्यमंत्री आवास पर हो रही जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में एनडीए की विरोधी ममता बनर्जी के लिए चुनावी रणनीति बनाने का फैसला कर फिर से चर्चा में आए जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर भी मौजूद रहे। वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता वशिष्ठ नारायण सिंह, प्रवक्ता केसी त्यागी, प्रदेश अध्यक्ष, जिलाध्यक्ष और अन्य कई नेताओं की भी उपस्थिति रही। 

मोदी सरकार-2 कैबिनेट में जदयू के शामिल नहीं होने के बाद से ही सियासी गलियारों में भाजपा-जदयू के बीच दूरी की हवा उड़ने लगी थी, जब जदयू को एक मंत्री पद का प्रस्ताव दिए जाने से नाराज नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार में भागीदारी से मना कर दिया था। जदयू प्रवक्ता केसी त्यागी का कहना था कि जो प्रस्ताव दिया गया था, वह स्वीकार्य नहीं था। इसलिए हम लोगों ने यह निर्णय लिया कि जदयू भविष्य में भी एनडीए केंद्रीय कैबिनेट का हिस्सा नहीं होगी। यह हमारा अंतिम निर्णय है।

 

अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के तीन दिवसीय दौरे के तीसरे दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कोझिकोड में रोड शो किया। इस दौरान राहुल के साथ उनके समर्थकों की भारी भीड़ जुटी थी। रैली से पहले राहुल क्षेत्र की एक सेवानिवृत्त नर्स राजम्मा से भी मुलाकात की। जिस अस्पताल में राहुल गांधी का जन्म हुआ था, ये नर्स वहीं कार्यरत थीं और उनके जन्म के समय भी मौजूद थीं।

ठीक 49 साल पहले दिल्ली के एक अस्पताल में नवजात शिशु के तौर पर राहुल गांधी को अपने हाथों में उठाने वाली 72 वर्षीय सेवानिवृत्त नर्स राजम्मा ववाथिल को हाथ पकड़कर उनको गले लगाया और उनके परिजनों से मुलाकात की। ये सभी लोग यहां स्थित एक अतिथि गृह में राहुल से मिलने आए थे।

राहुल गांधी ने अपनी व्यस्तता के बावजूद राजम्मा के पति, नाती-पोतों सहित पूरे परिवार के लिए समय निकाला। उन्होंने राजम्मा के रिश्तेदारों और कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ फोटो भी खिंचवाई। इन लोगों को राहुल से मिलने के लिए बड़ी देर तक इंतजार करना पड़ा।

19 जून 1970 को जब दिल्ली के होली फैमिली अस्पताल में राहुल गांधी का जन्म हुआ था तब राजम्मा ने एक प्रशिक्षु नर्स के तौर पर वहां राहुल की देखभाल की थी। जब राजम्मा ने बताया कि उनके सामने राहुल का जन्म हुआ और नवजात राहुल को उन्होंने ही अपने हाथों में उठाया था तब मुस्कराते हुए राहुल उनकी बात ध्यान से सुनते रहे। 

जाने से पहले राजम्मा ने राहुल को कटहल के चिप्स और मिठाई भेंट की जो उन्होंने खुद अपने हाथ से बनाई थी। राहुल ने राजम्मा से पुन: मिलने का वादा किया। राजम्मा ने बाद में कहा कि इतने साल बाद राहुल से मिलकर उन्हें बहुत खुशी हुई। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मैं सचमुच बहुत खुश और रोमांचित हूं। मैं उन लोगों में से एक थी जिन्होंने नवजात राहुल को अपने हाथों में उठाया था। जब मैं उनसे मिली तब उन दिनों की यादें ताजा हो गईं।’
 

शुक्रवार देर रात को हुए 25 आईपीएस अफसरों के तबादले की कड़ी में अजय पाल को रामपुर का नया एसपी बनाकर सरकार ने उनके कंधों पर रामपुर में न सिर्फ क्राइम कंट्रोल करने की जिम्मेदारी डाली है, बल्कि बिगड़े बोल और तीखी जुबान से भाजपा सरकार पर हमला करने वाले सपा नेता के गुर्गों पर भी लगाम कसने की जिम्मेदारी उन्हें सौंपी गई है।

मजे की बात ये है कि अजय पाल के रामपुर का एसपी बनाए जाने के बाद न सिर्फ उनके आलोचकों की बोलती बंद हुई है, बल्कि इस अफसर की आलोचना करने वाले स्वार्थी किस्म के ये आलोचक अब उनका गुणगान भी करने में जुटे हैं।

शामली के एसपी रहते हुए अजय पाल ने जिस तरीके से प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप कार्य कर बदमाशों पर शिकंजा कसा और उन्हें उनकी उस सही जगह पहुंचाया।

प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उन्हें भेजने की मंशा रखते थे। इसका नतीजा ये हुआ कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश से पलायन रोकने का दम भरा और उनके काम की खुले मंच से प्रशंसा की।

कैराना में पलायन को रोकने का सीएम ने अजय पाल को नोएडा का एसएसपी बनाकर ईनाम भी दिया।

लेकिन नोएडा में अजयपाल के 10 माह के कार्यकाल की उपलब्धियों को विरोधी हजम नहीं कर सके और उनके खिलाफ साजिश रचकर ऊंची पहुंच रखने वाले विरोधियों ने छोटे कार्यकाल के बाद ही अजय पाल का तबादला इलाहाबाद करा दिया।

लेकिन अजय पाल की काबिलियत को सरकारी तंत्र और तंत्र को चलाने वाले हुक्मरान ज्यादा दिन नजरअंदाज नहीं कर सके और सरकार को नई जिम्मेदारी के साथ उन्हें फिर से फील्ड में बदमाशो के खिलाफ में उतारना पड़ा।

तैमूर अली खान अभी मुश्किल से ढाई साल के भी नही हैं, लेकिन आए दिन किसी न किसी कारण से चर्चा में बने रहते हैं। इस समय तैमूर की बहुत बड़ी फैन फॉलोइंग हैं और सोशल नेटर्वकिंग साइट तथा इंटरनेट पर भी उनकी काफी तस्वीरे वायरल हो चुकी हैं. पपराजी तैमूर की हमेशा तस्वीरे लेने को तैयार रहता हैं, और तैमूर भी उन्हे हॉय बॉय करके रिस्पॉन्स देता है।

तैमूर अली खान की इस फैन फॉलोइंग से बॉलीवुड ऐक्टर में एक नाम और जुड़ चुका हैं. जूम चेनल के एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू के बाद सुनील ग्रोवर ने तैमूर की फोटो और विडियो वॉयरल के बारे में कहा, “तैमूर एक स्टार है, बॉर्न स्टार, सुपरस्टार। जैसा ऑरा तैमूर का है ऐसा किसी और का नहीं है”। 

वैसै आप सभी जानते हैं कि सुनील ग्रोवर भी किसी बड़े स्टार से कम नहीं हैं कॉमेडियन सुनील ने हाल ही में रिलीज़ हुई सलमान खान की ‘भारत’ फिल्म में सलमान के विलायती दोस्त का किरदार निभाया हैं।

 

डूमरहर के पूरब टोला निवासी धनसाय पुत्र मलसाय उम्र क़रीब 65 वर्ष को रात में सोते समय अज्ञात लोगो द्वारा धारदार हथियार से गला रेतकर निर्मम हत्या कर दी गईं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक अपने घर के बाहर सो रहा था।मृतक का परिवार जब सुबह सोकर उठा और बाहर आया तो बाहर का मंजर देख दंग रह गया। परिवार के लोगों ने देखा कि मृतक धनसाय खून से लतफ़त अपनी चारपाई पे मृत पड़ा था। ये देखकर घर में कोहराम मच गया।रोने-धोने व शोर-शराबा सुनकर ग्रामीण भी मौके पे इकट्ठे हो गये।

 

जिसकी सूचना बभनी पुलिस को दिया गया। सूचना मिलते ही प्रभारी थानाध्यक्ष मय हमराहियों के साथ मौके पे पहुँच कर अग्रिम कार्यवाई में जुट गई।

घटना की सूचना प्राप्त होने के पश्चात क्षेत्राधिकारी दुद्धी भी मौके पर पहुंच गहनता से पूछ-ताछ किया। और उनकी मौजूदगी में पंचनामे की कार्यवाई पूरी कर शव पोस्टमार्टम हेतु दुद्धी भेज दिया।

गुजरात में 5 जून विश्व पर्यावरण के रूप में मनाया गया|  जिसमे देश में कम हो रहे पेड़ और हवा प्रदुषण को लेकर अवेरनेस दी गई| क्योंकि आज के समय में पेड़ो के कम होने से और पर्यावरण के बारे में जागृत न होने से एयर पोल्यूशन बढ़ गया है जिससे गर्मी भी बढ़ी है लोगो को साँस से संबधित समस्याए भी हो रही है|

आजके समय में पुरे गुजरात में ही नहीं पर पुरे देश में हो रहे आधुनिकीकरणकी वजह से और पेड़ो को काटने की वजह से एयर पोल्यूशन काफी बढ़ गया है जिससे आज कल गर्मी में बढ़ोतरी हुई है और साँस से समस्या बढ़ने के साथ साथ कई सारी समस्याओ ने जन्म ले लिया है| आज नौबत यहाँ तक आ चुकी है की आनेवाले समय में अगर 500 करोड पौधे पुरे भारतमें नहीं लगाए गए तो आने वाली पीढ़ी को जीना मुश्किल होगी|

 

जिससे आज विश्व पर्यावरण दिन के अवसर पर गुजरात में एयर पोल्यूशनको कम किया जाए उस हेतु से उस थीम पर पर्यावरण दिन मनाया गया | जिसमे खास तौर पर उद्योगमें हो रहे एयर पोल्यूशन को कम करने और आनेवाले दिनों में सभी इंडस्ट्री में 30 प्रतिशत पेड़ पौधे लगाकर पर्यावरण बचाने को कहा गया| साथ ही साथ लोगो को भी जागृत होकर ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधों का जतन करने के लिए कहा गया| उसके साथ ही ए.सी. कम उपयोग करने, जरुरत न होने पर वाहन कम चलाना और पावर स्टेशनसे हो रहे एयर पोल्यूशन पर खास ध्यान दिया जाए|

 

गुजरात प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड के वरिष्ठ इंजिनियर गौरांग त्रिवेदीने भी खास बताया की गुजरातमें प्रदुषण कम करने में इनके और सरकार द्वारा पूरा ध्यान दिया जा रहा है| उसमे इंडस्ट्री में पहले से ही पेड़ पौधे उगाने और पर्यावरण को जतन करने जैसी बात है| साथ ही समय समय पर उनके द्वारा चेकिंग भी की जा रही है और उसके पुरे डाटा भी रखे जाते है| उन्होंने यह भी बताया की पर्यावरण को लेकर जो भी पोलिसी बनाई गई है उस पर पूरा ध्यान रखा जा रहा है| साथ ही साथ जितने पेड़ काटे जा रहे है उसके सामने उससे ज्यादा पेड़ बोने का कामकाज चालू है| प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेरमेन डॉक्टर राजीव गुप्ता जी ने कहा कि इसबार एक नई टेक्नोलॉजी आ रही है जिसका नाम ईटीएस है जिससे प्रदूषण कम हो शकेगा। जिसको सर्वप्रथम सूरत के क्लस्टर विस्तार से शुरू किया जाएगा। इस सिस्टम को प्रधानमंत्री बढ़ावा दे रहे है जिससे प्रदूषण कम हो और इंडस्ट्री भी काफी कम समय तक बंद हो शके।

 

इसके साथ ही गुजरात के कुछ उद्योगपतिओ ने भी बताया की आज के दिनों में प्रदुषण कम करने के काफी साड़ी तकनीके आ चुकी है जिससे वो लोग इस्तेमाल करके पानी के प्रदुषण, हवा के प्रदुषण सबको कम करने की कोशिश कर रहे है | और साथ में वो लोग भी अपनी इंडस्ट्री के आसपास और इंडस्ट्री में पेड़ पौधे उगाकर प्रदुषण कम किया जाता है| क्योंकि आने वाले समय में पेड़ पौधे ही है जो प्रदुषण पर नियंत्रण करने में काम करेगा|

 

 

पुणे के पौंड इलाके में उस समय हड़कंप मच गया जब पूरे इलाके में एक-दो नहीं लगभग 90 बम धमाकों की आवाज सुनाई दी। धमाकों की आवाज सुनकर इलाके में अलर्ट जारी कर दिया गया है और मामले की तफ्तीश शुरू कर दी गई है।

जांच में पता चला है कि वन विभाग के दफ्तर में कुछ दिन पहले ही जंगल से बरामद किए गए 90 देसी बम रखे गए थे। धमाकों की आवाज इतनी तेज थी कि कई किलोमीटर तक उसकी आवाज सुनाई दी।

गनीमत रही कि जिस समय वन विभाग के दफ्तर में ये धमाके हुए उस वक्त दफ्तर में कोई नहीं था। धमाकों के कारण दफ्तर का काफी बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है।

आज ऑपरेशन ब्लू स्टार की 35वीं बरसी है। ऐसे में जिला पुलिस प्रशासन ने में किसी भी संभावित घटना को रोकने के लिए गुरु नगरी को छावनी में तब्दील कर दिया है। बतां दे कि अमृतसर के गांव हर्षा छीना-कुकड़वाला में नाके के पास मिले दो हैंड ग्रेनेड मिलने के बाद प्रशासन और भी ज्यादा सख्त हो गया है। गुरु नगरी के चप्पे-चप्पे में पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवान आधुनिक हथियारों के साथ चौक के अलावा शहर के भीतरी और तंग बाजारों में तैनात कर दिए गए है।

 

पुलिस कमिश्नर एसएस श्रीवास्तव के अनुसार किसी भी घटना को रोकने के लिए पंजाब पुलिस के साथ-साथ अर्धसैनिक व बीएसएफ के पांच हजार से अधिक जवान मुस्तैद है। श्री दरबार साहिब के आसपास के इलाकों में सीसीटीवी कैमरे स्थापित कर दिया गए हैं। पुलिस अधिकारी इन सीसीटीवी कैमरों से कंट्रोल रूम से गतिविधियों पर पैनी नजर बनाए हुए हैं।

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मानव जाति को जागरुक करने के लिए राजस्थान औधोगिक प्रशिक्षण संस्थान की ओर से पर्यावरण दिवस मनाया गया। जिसमे प्राचार्य इंजी.अशोक गुर्जर के नेतृत्व में पर्यावरण को बचाने का सन्देश देते हुए छात्र छात्राओं ने कस्बे में जागरूकता रैली निकाली। रैली के दौरान प्राचार्य  इंजी।

अशोक गुर्जर ने कहा कि पृथ्वी को सुरक्षित रखने के लिए शैक्षणिक सत्र जैसे सैमीनार ,परिचर्चा, पेड़ पौधे लगाना अन्य प्रतियोगी गतिविधियों से प्राकृतिक संसाधनों की सुरक्षा के लिए शिक्षा देनी चाहिए। साथ ही इस दौरान शिक्षको ने भी लोगों को पर्यावरण को बचाने का संदेश दिया।

राजस्थान के नागौर में एक पिता ने अपने ही मासूम बच्चों को मौत के घाट उतार दिया। पिता ने अपने दोनों बेटों की गला घोटकर हत्या कर दी और उसके बाद खुद फंदे से लटकर आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना मिलते ही पूरे गांव में सनसनी फैल गई।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। बताया जा रहा है कि शख्स पैसों को लेकर काफी परेशान था। और इसी कारण उसने इस घटना को अंजाम दिया और अपने दो बेटों के साथ-साथ अपनी जीवन लीला को भी समाप्त कर दिया।

 LIVE UPDATE

35 ओवर के बाद: साउथ अफ्रीका 6 विकेट के नुकसान पर 135 रन बना चुके हैं। क्रिस मॉरिस( 0 रन) और एंडिले फेलुक्वायो (22रन) बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं।

भारत को दूसरी सफलता क्विंटन डी कॉक के रुप में मिला, जिसे जसप्रीत बुमराम ने 10 रनों पर चलता कर दिया। वहीं इससे पहले जसप्रीत बुमराह ने हाशिम अमला 6 रनों पर आउट कर दिया।

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच मुकाबला खेला जा रहा है। साउथ अफ्रीका ने यहां टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया है। विश्वकप में भारतीय टीम का ये पहला मैच है जिसको भारत जीतने की पूरी कोशिश करेगा। तो, वहीं दक्षिण अफ्रीका की टीम अपने दोनों मैच हारकर तीसरे मैच में भारत को टक्कर देने की पूरी कोशिश करेगी।

इस मैच से पहले भारतीय टीम के लिए अच्छी खबर ये है कि केदार जाधव पूरी तरह फिट हैं और प्लेइंग इलेवन में अपनी जगह बना चुके हैं। वहीं, नंबर चार पर केएल राहुल को मौका दिया गया है। .

INDIA(प्लेइंग इलेवन): रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, लोकेश राहुल, एमएस धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह

SOUTH AFRICA(प्लेइंग इलेवन): क्विंटन डी कॉक, हाशिम अमला, फाफ डु प्लेसिस, रासी वैन डेर डूसन, डेविड मिलर, जीन-पॉल ड्यूमिनी,.एंडिले फेलुक्वायो, क्रिस मॉरिस, कैगिसो रबाडा, इमरान ताहिर, तबरेज शम्सी

Page 1 of 17