Login to your account

Username *
Password *
Remember Me
अन्य बड़ी खबरें

अन्य बड़ी खबरें (540)

 - फेसबुक पर अपनी पोस्ट शेर करते विवाद बढ़ा

 - ठाकोर समुदाय गुस्से में - पोस्ट का किया विरोध

 - लड़की को पुराने रिवाज से दुधपिति करने का किया अनुरोध

बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के नारे लगाती सरकार की सभी कोशिशों के बीच एक ऐसी पोस्ट वायरल हुई है जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे। पोस्ट भी ठाकोर समुदाय अखिल एकता समिति के अध्यक्ष नवघणजी ठाकोर  ने की है। अपनी पोस्ट में कहा कि ठाकोर समुदाय की लड़की  दूसरे समाज के लड़के के साथ शादी करती है तो उसे पुरानी परंपरा में लड़कियों को दुधपिति करने का जो सिलसिला था उसे लागू करदेना चहिये यानी इस पोस्ट का सीधे सीधे मतलब यह निकलता है कि लड़की को मार देना चाहिए।

आपको बता दें कि ठाकोर समाज इस पोस्ट के वायरल होने के बाद काफी गुस्से में है  और फेसबुक पर हुई इस पोस्ट पर कमेंट करके अपना गुस्सा निकाल रही है। अध्यक्ष जी ने फिलहाल इस पोस्ट को फेसबुक से डिलीट कर दिया है पर इसके स्क्रीन शार्ट बनाकर फोटो शोशियल मिडीयामें तेजी से वायरल हो रहे है आपको बता दे कि दो दिन पहले ही बनासकांठा के दांतीवाड़ा तहसील के 12 गावो में ठाकोर समाज ने अपने समाज का एक अलग कानुन बनाया है जिसमे अविवाहिता लड़कियों को मोबाइल पर पाबंदी लगा दी है साथ मे समाज मे पीढ़ियों चले आ रहे गलत खर्च और रिवाजों पर पाबंदी कर दी है और उसे 12 गाँव के लोगो को मामने का समाज की और2 से मीटिंग करके हुक्म कर दिया है। तब फिर एकबार अखिल ठाकोर एकता2 समिति के अध्यक्ष ने फेसबुक पर अपनी गंदी मानसिकता को चलते पोस्ट वायरल करके ठाकोर समुदाय के लोगोंमें गुस्सा भर दिया है ।इस पोस्ट से माने तो समाज से अलग समाज से शादी करने वाली लड़की को मौत की सजा देने का फरमान इस पोस्ट के जरिये दोय जा रहा है। बनासकांठा में फिलहाल इस पोस्ट पर ठाकोर समाज मे बवाल मचा है और अध्यक्ष नवघणजी ठाकोर की गंदी मानसिकता पर जमकर किरकिरी हो रही है।

इन दिनों लगभग आधा बिहार बाढ़ के परेशानियों से जूझ रहा है। बिहार में बाढ़ के कारण 80 लोगों की मौत हो गई। बाढ़ से प्रभावित लोग सरकार से मदद की आस लगाए हुए हैं, लेकिन बिहार सरकार मानों चैन की नींद सो रही है औ बिहार के उप मुख्यमंत्री ऋतिक रौशन की फिल्म सुपर 30 देखने में ही व्यस्त हैं। सुशील मोदी पर सुपर 30 का खुमार साफ देखा जा सकता है। यही कारण है कि बिहार में सुपर 30 को टैक्स फ्री कर दिया गया है।

बाढ के विनाश लीला के बीच सुशील मोदी का सुपर 30 फिल्म का ये प्रेम विपक्षी पार्टियों को  पच नहीं रहा है। इसे लेकर पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने उनपर निशाना साधा है। राजद का आरोप है कि सरकार बाढ़ पीड़ितों की मदद करने के बजाय फिल्म देखने में अपना में वक्त बर्बाद कर रही है।

ये कोई पहला मौका नहीं है जब सुशील मोदी इस तरह के विवादों में घिरे हैं मुजफ्फरपुर में जब चमकी बुखार से बच्चों की जाने जा रही थी तब भी सुशील मोदी ने मीडिया के सवालों का जवाब देना जायज नहीं समझा था।

बिमारी से बच्चे मरे तो मरे, बाढ़ से गांव के गांव के तबाह हो तो हो लेकिन नेता जी तो फिल्म देखने में ही मस्त है।

नशे के बढ़ते इस्तेमाल के बीच अब नशा बेचने वालों ने कई नए तरीके इजाद कर लिए हैं, जिनसे नशा आसानी से बिक भी जाए और वह पुलिस की नज़र में भी ना आए। इसी बीच तेलंगाना पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो ड्रग्स वाले चॉकलेट सामान्य चॉकलेट के कवर रैप मे बेचा करते थे। दरअसल तेलंगाना पुलिस ने 1400 मारिजुआना चॉकलेट बरामद किए हैं। ड्रग्स वाले इस चॉकलेट को सामान्य कवर में रैप किया गया था, जिससे किसी को शक न हो, लेकिन मुखबिर की सूचना मिलने पर पुलिस ने सख्ती से जांच-पड़ताल की तो पूरा मामला खुल के सामने आया।

पुलिस अधिकारी जीवन किरण ने बताया कि ‘पान की दुकान में बेचे जाने से पहले मारिजुआना को चॉकलेट में मिलाया जाता था और सामान्य चॉकलेट कवर में लपेटा जाता था’। उन्होंने अगे बताया कि एक बार पकड़े जाने के बाद इस मामले के अभियुक्तों ने अपना काम करने का तरीका बदल दिया और मारिजुआना चॉकलेट तैयार करना शुरू कर दिया, ताकि वे इसे ग्राहकों को आसानी से बेच सकें। गुप्त सूचना के आधार पर हमें पान की दुकान पर छापा मारा और 40 चॉकलेट वाले कुछ पैकेट बरामद किये। इसके बाद मेडचल-मलकजगिरी जिले में छापा मारा गया।

एक पुलिस अधिकारी ने आगे ये बताया कि आरोपियों से पूछताछ करने के बाद हमने एक गोदाम पर छापा मारा, जहाँ से हमें ऐसे 33 पैकेट मिले। हमने मारिजुआना के कुल 1400 चॉकलेट जब्त किए हैं, जिनका वजन 9.4  किलोग्राम है।

कर्नाटक में कुमारस्वामी की सरकार रहेगी या जाएगी, इसका फैसला अब विधानसभा में शक्ति परीक्षण के आधार पर होगा। गुरुवार को 11 बजे सदन में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होगी। अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के बाद वोटिंग होगी। कांग्रेस-जेडीएस और बीजेपी ने शक्ति परीक्षण में जीत का दावा किया है। गौरतलब है कि सत्तारूढ़ जनता दल-(सेकुलर) और कांग्रेस पार्टी की गठबंधन सरकार के 16 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं, इसलिए सरकार पर संकट के गंभीर बादल मंडरा रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को 15 बागी विधायकों के इस्‍तीफों पर अपना फैसला सुनाया। शीर्ष अदालत ने कहा कि कर्नाटक के विधायकों को विश्‍वास मत में भाग लेने को मजबूर नहीं किया जा सकता है।अदालत ने इस्तीफों पर निर्णय लेने का अधिकार स्पीकर केआर रमेश कुमार पर छोड़ दिया है। सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने विधानसभा अध्‍यक्ष को कहा कि वह अपनी मर्जी के मुताबिक जो भी फैसला करना चाहते हैं, वह करें लेकिन वह पहले बागी विधायकों के इस्तीफों पर फैसला लें।

 

 

इसरो वैज्ञानिकों की 11 साल की मेहनत को लगा था छोटा सा झटका, दरअसल 15 जुलाई को चंद्रयान लॉन्च किया जाना था लेकिन तकनीकी खराबी के कारण लॉन्च टाल दिया गया। इंडियन स्पेस रीसर्च ऑर्गनाइजेशन(ISRO) ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी थी, लेकिन अब खबर ये हा कि ISRO ने चंद्रयान-2 का लॉन्च 22 जुलाई को तय किया है।

इसरो की ओर से आधिकारिक सूचना दी गई है कि 22 जुलाई को दोपहर 2:43 बजे चंद्रयान-2 को लॉन्च किया जाएगा।

 

गौरतलब है कि पहले लॉन्च 15 जुलाई को होना था लेकिन जीएसएलवी एमकेl में क्रायॉजनिक स्टेज पर ऐन मौके पर लीक होने से इसे टालना पड़ा। बता दें कि हर लॉन्च में एक समय सीमा होती है जिसके अंदर वे नतीजे मिलने की संभावना होती है, जिनके लिए लॉन्च किया जा रहा है। 15 जुलाई को यह समय सबसे ज्यादा 10 मिनट का था लेकिन इसरो के पास बाकी महीने में हर दिन एक मिनट का समय है। 

आपको बता दें कि वैज्ञानिकों के मुताबिक 31 जुलाई तक न लॉन्च कर पाने की स्थिति में चंद्रयान के लिए ज्यादा ईंधन की जरूरत होगी। इसके अलावा फिलहाल चंद्रयान का लक्ष्य एक साल तक चांद का चक्कर लगाने का है, लेकिन सही समय पर लॉन्च न होने से यह वक्त 6 महीने तक भी घट सकता है। संभावित लॉन्च को देखते हुए 18 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक दोपहर 2 बजे से लेकर 3:30 बजे तक के लिए अलर्ट जारी किया गया है।

 

पाकिस्तान सरकार के पास राजकोश में अब केवल कुछ ही राशि शेश बची है, ऊपर से पहाड़ इस कदर फूटा है कि पाकिस्तान पर वर्ल्ड बैंक ने 6 अरब डॉलर का जुर्माना तक ठोक दिया है।

इस तनाव में पाकिस्तान की सरकार ने मुर्दों को दफन करने के लिए बनने वाली नई कब्रों पर भी टेक्स लगा दिया है। पाकिस्तान सरकार ने 1000 से 1500 पाकिस्तानी रुपयों तक कब्र पर वसूलने का प्रस्ताव दिया है।

पाकिस्तानी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, लाहौर नगर निगम ने सुझाव को मंजूरी के लिए सरकार को भेज दिया है। पाकिस्तान की ओर से ये दलील दी गई है कि रकम का इस्तेमाल कब्रिस्तानों की देखभाल के लिए किया जाएगा। 

इस प्रस्ताव के अनुसार व्यस्क को दफनाने के लिए 1500 रुपये जमा कराने होंगे जबकि नाबालिग को दफनाने के लिए 1000 रुपये जमा कराने होंगे। सरकार ने कब्रिस्तानों में दफनाने के लिए एक समय-सारणी भी प्रस्तावित की है, जिसके तहत आधी रात को 2:00 बजे से सुबह 5:00 बजे के बीच शवों को दफन नहीं किया जा सकता है।

प्रस्तावित अनुसूची के अनुसार, जो परिवार समय सारिणी का उल्लंघन करेंगे, उन्हें अधिकारियों को 2000 रुपये का अतिरिक्त शुल्क देना होगा। अभी कब्रिस्तान में जगह और मुर्दे को दफन करने में 10,000 का खर्च आता है।

गुरु पूर्णिमा आषाढ़ मास की पूर्णिमा को कहा जाता है। इस दिन गुरु पूजा का विधान है। इसका हिंदू धर्म में विशेष महत्व है। इसलिए गुरु पूर्णिमा को धूमधाम से मनाया जाता है। तीर्थनगरी ऋषिकेश में देश-विदेश से आए लाखों श्रद्धालुओं ने अपने गुरु का तिलक कर परंपरा के अनुसार पूजन किया। 

गुरु पूर्णिमा पर जय राम आश्रम, कैलाश विद्यापीठ और दर्शन महाविद्यालय में नव प्रवेशी ऋषि कुमारों का उपनयन संस्कार भी किया गया। श्रावण मास की गुरु पूर्णिमा के अवसर पर गुरु शिष्य परंपरा के चलते प्रातः से ही शिष्यों ने अपने गुरुओं का पूजन प्रारंभ कर दिया था। इस अवसर पर जयराम आश्रम के पीठाधीश्वर ब्रह्म स्वरूप ब्रमह्मचारी ने अपने शिष्यों को संबोधित करते हुए गुरु-शिष्य के बीच का संबंध बताते हुए कहा की गुरु के बिना कभी भी मनुष्य को ज्ञान नहीं मिलता है। गुरु ही शिष्य को सत्य मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है। वह मनुष्य के भीतर आए गुरूर को भी खत्म करता है। उन्होंने बताया कि गुरु शिष्य परंपरा को अनादि काल से भारतीय संस्कृति को मानने वाले लोग अपनाते हैं।

 

 

आज रात चंद्र ग्रहण का नजारा दिखाई देगा. यह आंशिक चंद्र ग्रहण  होगा जिसे पूरे देश में देखा जा सकेगा.  भारतीय समय के अनुसार यह ग्रहण  16 जुलाई की रात 1 बजकर 31 मिनट पर शुरू होगा और 17 जुलाई की सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर समाप्‍त हो जाएगा. आंशिक चंद्र ग्रहण  तब होता है जब सूरज और चांद के बीच पृथ्‍वी घूमते हुए आती है, लेकिन वे तीनों एक सीधी लाइन में नहीं होते. यह चंद्र ग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा क्‍योंकि उस वक्‍त यहां रात होगी. चंद्र ग्रहण के दिन ही गुरु पूर्णिमा भी है. हिन्‍दू मान्‍यताओं के अनुसार आषाढ़ शुक्‍ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन ही आदिगुरु, महाभारत के रचयिता और चार वेदों के व्‍याख्‍याता महर्षि  कृष्‍ण द्वैपायन व्‍यास यानी कि महर्षि वेद व्‍यास  का जन्‍म हुआ था. ग्रहण  की वजह से सूतक काल से पहले ही गुरु पूर्णिमा की पूजा कर ली जाएगी. आपको बता दें कि 16 जुलाई को लगने वाले आंशिक चंद्र ग्रहण  बाद  फिर 2019 का आखिरी ग्रहण और तीसरा सूर्य ग्रहण  26 दिसंबर को होगा, जिसे भारत में देखा जा सकेगा.  26 दिसंबर को वलयकार  सूर्य ग्रहण होगा.

विज्ञान की नजर से चंद्र ग्रहण 
जब पृथ्वी सूर्य की परिक्रमा के दौरान चंद्रमा और सूर्य के बीच में आ जाती है. लेकिन वे तीनों एक सीधी लाइन में नहीं होते. ऐसी स्थिति में चांद की छोटी सी सतह पर पृथ्‍वी के बीच के हिस्‍से की छाया पड़ती है, जिसे अंब्र (Umbra) कहते हैं. चांद के बाकी हिस्‍से में पृथ्‍वी के बाहरी हिस्‍से की छाया पड़ती है, जिसे पिनम्‍ब्र (Penumbra) कहते हैं. इस दौरान चांद के एक बड़े हिस्‍से में हमें पृथ्‍वी की छाया नजर आने लगती है.

धार्मिक मान्यता के अनुसार  चंद्र ग्रहण

एक पौराणिक कथा के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान देवताओं और दानवों के बीच अमृत के लिए घमासान चला. इस मंथन में अमृत देवताओं को मिला लेकिन असुरों ने उसे छीन लिया. अमृत को वापस लाने के लिए भगवान विष्णु ने मोहिनी नाम की सुंदर कन्या का रूप धारण किया और असुरों से अमृत ले लिया. जब वह उस अमृत को लेकर देवताओं के पास पहुंचे और उन्हें पिलाने लगे तो राहु नामक असुर भी देवताओं के बीच जाकर अमृत पीने बैठ गया. जैसे ही वो अमृत पीकर हटा, भगवान सूर्य और चंद्रमा को भनक हो गई कि वह असुर है. तुरंत उससे अमृत छीन लिया गया और विष्णु जी ने अपने सुदर्शन चक्र से उसकी गर्दन धड़ से अलग कर दी.  क्योंकि वो अमृत पी चुका था इसीलिए वह मरा नहीं. उसका सिर और धड़ राहु और केतु नाम के ग्रह पर गिरकर स्थापित हो गए. ऐसी मान्यता है कि इसी घटना के कारण सूर्य और चंद्रमा को ग्रहण लगता है, इसी वजह से उनकी चमक कुछ देर के लिए चली जाती है.

 

यात्राधाम अम्बाजी में आई हुई श्री आराशुरी अम्बाजी माता देवस्थान ट्रस्ट द्वारा संचालित अम्बाजी कॉमर्स, आर्ट्स और बीसीए कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा गुरुपूर्णिमा होने से सभी गुरुजनो के पास जाकर उनका गुरुपूजन कर मिढाई खिलाकर मु मिढा करवाया गया और छात्रशक्ति नाम की पुस्तक सभी गुरुजनो को भेट की गई। गुरुजनो का आशिर्वाद लेकर गुरुजनो के द्वारा गुरुपूर्णिमा, गुरु और शिष्य के बीच मे क्या संबंध होता है उस विषय पर मार्गदर्शन दिया गया। अम्बाजी कॉलेज के तमाम गुरुजनो द्वारा सभी विद्यार्थी को आगे बढ़ो और जीवन मे खूब सारी तरकी करो ऐसी शुभेच्छा दी गई।

इस कार्यक्रम में ABVP के बनासकांठा जिल्ला संयोजक धवलभाई जोषी की विशेष उपस्थिति रही और अम्बाजी शाखा के अंकित खारोल, मनीष मालवी, दिनेश जोषी, देवेंद्र मकवाना, रितिक वधवाणी,मनु डामोर, ध्रुव परमार,हिमांशु, प्रियाबेन गोस्वामी,  पायल जोशी, जैसे तमाम कार्यकता उपस्थित रहे और गुरुपूजन करने का शौभाग्य प्राप्त किया।

 

देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली बीयर KINGFISHER का उतपादन करने वाली कंपनी यूनाइटेड ब्रूवरीज लिमिटेड (UBL) को बोहत बड़ी शर्मिंदगी झेलनी पड़ी है। पिछले साल अगस्त में इसके वेयरहाउस कि जांच के लिए अमेरिका से आए यूएस फूड ऐंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (USFDA) ने अपनी रिपोर्ट में ऐसी कई शिकायतें की हैं जो आपको हैरान करदेंगी । इन शिकायतों के अनुसार, कंपनी के बीयर कैन गोदाम में पक्ष‍ियों के बीट, गंदगी देखी गई, तो उनके वाशरूम में साबुन, टॉयलेट पेपर तक नहीं था।

आपको बता दें कि यह कंपनी पहले विजय माल्या की थी. 1983 में विजय माल्या इसके चेयरमैन बने थे। 

लेकिन बैंक कर्ज डिफाल्ट मामले में उनके फरार होने के बाद प्रबंधन में बदलाव हुए थे। जून 2018 में सरकार के आदेश पर कंपनी में माल्या के 1000 करोड़ रुपये के शेयर जब्त कर लिए गए और बाद में उनकी बिक्री कर दी गई थी।

यूएस फूड ऐंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के अधिकारियों ने पिछले साल अगस्त में यूबीएल के मुंबई में पनवेल स्थ‍ित प्लांट की जांच की थी. USFDA ने यह जांच इसलिए की थी, क्योंकि यूबीएल इस प्लांट से ही अपने किंगफिशर, फ्लाइंग हाउस, ताजमहल और महाराजा जैसे प्रमुख बीयर ब्रांड का अमेरिका को निर्यात करती है।

इसके जवाब में यूबीएल के मैनेजर वी एम प्रभुदेसाई ने कहा, ' गोदी वाले रास्ते पर दोहरा दरवाजा लगा दिया गया है ताकि गोदाम में पक्षी न घुस सकें। इसके अलावा इमारत की सभी सुराखों को भी भर दिया गया है। कर्मचारियों की आवाजाही के लिए एक नया दरवाजा बनाया गया है।'

जांच अधिकारी कॉनेली ने उसी दिन सुगर स्टोरेज रूम का भी निरीक्षण किया था। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में लिखा है, '16 अगस्त, 2018 को मैंने यह पाया कि सुगर स्टोरेज रूम की खिड़कियों में सुराख है और फर्श पर पानी जमा है।'

यही नहीं, प्लांट के वाशरूम की अव्यवस्था को लेकर भी अमेरिकी जांच दल ने सख्त टिप्पणी की है। कॉनेली ने लिखा है, 'बॉटलिंग केंद्र में हाथ धोने वाली जगह पर पानी, साबुन या हाथ सुखाने वाला इक्विपमेंट नहीं था। रेस्टरूम में टॉयलेट पेपर नहीं था।

 

Page 1 of 39